तिरुवनंतपुरम: केरला क्रिकेट संघ (केसीए) ने भारत और वेस्टंडीज के बीच एक नवंबर को होने वाले वनडे मैच को कोच्चि के स्थान पर तिरुवनंतपुरम स्थानांतरित करने का फैसला लिया है. वेबसाइट ईएसपीएनक्रिकइंफो की रिपोर्ट के मुताबिक, यह फैसला केरल के खेल मंत्री के विवाद में कूदने के बाद लिया गया है, जिन्होंने केसीए से मैच स्थल को तिरुवनंतपुरम में आयोजित किए जाने को कहा था. इससे पहले बीसीसीआई ने एक नवंबर को होने वाले इस मैच को कोच्चि के जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में कराने का फैसला लिया था, लेकिन यह मैदान फुटबाल का मैदान है, ऐसे में इस पर विवाद हो गया था. कोच्चि का मैदान इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) की टीम केरला ब्लास्टर्स का घरेलू मैदान है और दिग्गज बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर इस टीम के सह-मालिक हैं. मैच को कोच्चि से तिरुवनंतपुरम स्थानांतरित करने के लिए शशि थरूर और सचिन जैसे कई दिग्गजों ने अपील की थी. Also Read - इरफान पठान की मदद से आईपीएल तक पहुंचा जम्मू-कश्मीर का क्रिकेटर टूर्नामेंट स्थगित होने से नाखुश

सचिन ने मंगलवार को एक ट्वीट करते हुए कहा था कि उन्होंने सर्वोच्च अदालत द्वारा नियुक्त की गई प्रशासकों की समिति के अध्यक्ष विनोद राय से मैच स्थल को स्थानांतरित करने की अपील की है. तेंदुलकर ने ट्वीट कर लिखा था, “फीफा द्वारा मान्यता प्राप्त कोच्चि के स्टेडियम की संभावित दुर्गति से चिंतित हूं. केसीए से अपील कि है कि वह तय करे कि क्रिकेट (तिरुवनंतपुरम) और फुटबाल (कोच्चि) साथ में रहें.” राय के संज्ञान में लोकसभा सांसद शशि थरूर ने भी यह बात लाई थी. दोनों मैदान राज्य सरकार के अधीन है तो खेल मंत्री एसी मोइदीन ने गुरुवार को केसीए के अधिकारियों के साथ बैठक की और इसका समाधान निकाला.

केसीए के सचिव जयेश जॉर्ज के मुताबिक, राज्य क्रिकेट संघ ने सरकार के साथ एक एमओयू करते हुए दोनों मैदानों को लीज पर लिया है और केसीए ने दोनों मैदानों में निवेश भी किया है, इसलिए उसे लगता है कि दोनों मैदान को क्रिकेट के लिए चुनने का उसका अधिकार है. वेबसाइट ईएसपीएनक्रिकइंफो ने जॉर्ज के हवाले से लिखा है, “एमओयू के हिसाब से दोनों मैदानों पर फुटबाल भी हो सकती है. चूंकि 2011 से हमने कोच्चि के स्टेडियम की देखभाल की है, लेकिन सरकार ने फीफा अंडर-17 विश्व कप के लिए इसको अपने अधीन ले लिया था.”

जॉर्ज ने कहा कि खेल मंत्री ने केसीए को आश्वासन दिया है कि इस तरह के विवादों से बचने के लिए सरकार संघ को सिर्फ क्रिकेट स्टेडियम बनाने के लिए जमीन देगी. उन्होंने कहा, “सरकार ने इसमें हस्ताक्षेप करते हुए हमसे मैच तिरुवनंतपुरम में आयोजित करने को कहा है तो हम कर रहे हैं.” (इनपुट:एजेंसी)