नई दिल्ली : इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के पांचवें सीजन में आज दिल्ली डायनामोज का सामना केरला ब्लास्टर्स से उसके घर जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में होगा. ब्लास्टर्स ने इस सीजन का शानदार शुरुआत की है और दिल्ली के लिए उसकी चुनौती का सामना करना किसी भी लिहाज से आसान नहीं होगा. Also Read - IPL 2020 KKR vs MI Preview: कोलकाता-मुंबई मैच में 'हिटमैन', शुबमन, हार्दिक और रसेल पर होगी नजर

Also Read - India vs New Zealand, 2nd ODI: ऑकलैंड वनडे में इन 2 बदलाव के साथ उतर सकता है भारत

ब्लास्टर्स ने दो मैचों से चार अंक अपने खाते में डाल लिए हैं और अंकतालिका में वह अच्छी स्थिति पर है. दो बार की उप-विजेता ने पहले मैच में एटीके को मात दी थी और उसके खिलाफ कोलकाता की जमीन पर पहली जीत हासिल की थी. मुंबई सिटी एफसी के खिलाफ वह अपनी लगातार दूसरी जीत दर्ज करने के करीब थी, लेकिन प्रांजल भूमजी ने आखिरी पलों में गोल कर स्कोर बराबर कर दिया था. Also Read - IND v WI 3rd T20: निर्णायक T20 में इस प्लेइंग इलेवन के साथ उतर सकती है टीम इंडिया

फीफा अंडर-17 विश्व कप में भारतीय टीम के गोलकीपर रहे धीरज सिंह इस लीग में ब्लास्टर्स से खेल रहे हैं और उनका सेव परसेंटेज 85.71 फीसदी है, जो लीग में सर्वश्रेष्ठ है. वह एक बार फिर दिल्ली के खिलाफ अपनी इसी फॉर्म को जारी रखना चाहेंगे. डिफेंस में संदेश झिगान और नेमांजा लाकिस-पेसिक की जोड़ी को छका पाना आसान नहीं है. इसमें उन्हें मोहम्मद राकिप और लालरुथारा का भी साथ मिलता है. झिंगान की टीम ने अभी तक सिर्फ एक गोल खाया है और वह दिल्ली की फॉरवर्ड लाइन को अच्छी चुनौती दे सकते हैं.

भरपेट खाने के लिए 1 विकेट पर 10 रूपये पाता था यह खिलाड़ी, अब रहाणे की कप्तानी में खेलेगा

डायनामोज के सहायक कोच मृदुल बनर्जी भी ब्लास्टर्स की डिफेंसिव रणनीति से वाकिफ हैं. नए कोच जोसेफ गोमबाउ के मार्गदर्शन वाली डायनामोज को पांचवें सीजन की शुरुआत के लिए दो घरेलू मैच सौंपे गए. दोनों मैचों में उसने एक अंक हासिल किया लेकिन उसे लगता है कि वह दोनों मैचों जीत सकती थी.

अपने पहले मैच में पुणे सिटी के खिलाफ वह जीत की ओर बढ़ रही थी, लेकिन डिएगो कार्लोस ने अंतिम पलों में बराबरी का गोल कर उसे अंक बांटने पर मजबूर कर दिया. वहीं दूसरे मैच में उसे एटीके ने 2-1 से मात दी. इस मैच में टीम अच्छी फीनिशिंग नहीं कर पाई और अंत में एक बार फिर गोल खा गई.

विजय हजारे ट्रॉफी 2018: मुंबई की नजरें खिताबी जीत पर, दिल्ली के सामने बड़ी चुनौती

लालइनजुआला चांग्ते और नंदकुमार सेकर फ्लैंक्स पर शानदार खेल खेल रहे हैं, लेकिन गोमबाउ को उम्मीद होगी कि आंद्रिजा कालूडेरोविक गोल करने में सफल रहें. दिल्ली की फॉरवर्ड लाइन की शॉट एक्यूरेसी अभी तक सिर्फ 25 फीसदी है.