कोविड-19 (Covid-19) वैश्विक महामारी के कारण इस समय दुनिया भर में सभी खेल की प्रतियोगिताएं स्थगित कर दी गई हैं. टोक्यो ओलंपिक को भी एक साल के लिए टाला गया है वहीं भारत में होने वाले बहुप्रतीक्षित इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2020 सीजन को भी 15 अप्रैल तक के लिए स्थगित कर दिया गया है. हालांकि अब इसके आयोजन पर संशय के बादल मंडरा रहे हैं.Also Read - Omicron Update: दिल्‍ली के LNJP में भर्ती 12 विदेशियों की सेहत से जुड़ा ताजा अपडेट

भारत में इस समय 21 दिन का लॉकडाउन घोषित है. कोरोनावायरस के कारण भले ही सभी खेल गतिविधियां अनिश्चितकाल के लिए थम गई हों बावजूद इसके इंग्लैंड के पूर्व कप्तान केविन पीटरसन का अब भी मानना है कि अगर विंडो उपलब्ध होती है तो आईपीएल के 13वें एडिशन का आयोजन किया जाना चाहिए. उन्होंने ‘संक्षिप्त’ लीग का प्रस्ताव दिया जिसे बंद स्टेडियम में आयोजित किया जाना चाहिए और दर्शकों की जान को जोखिम में नहीं डालना चाहिए. Also Read - Omicron in India: क्या दिल्ली भी पहुंच गया है खतरनाक वेरिएंट Omicron! LNJP में भर्ती हैं कई मरीज

टॉम मूडी की नजर में ये है टी20 का सबसे खतरनाक सलामी बल्‍लेबाज, बताई फेवरेट IPL टीम Also Read - Deaths due to Oxygen Shortage: स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, ऑक्सीजन की कमी से सिर्फ पंजाब में हुई चार मौतें

पीटरसन ने ‘स्टार स्पोर्ट्स’ के शो ‘क्रिकेट कनेक्टिड’ में कहा, ‘चलिए जुलाई-अगस्त जल्दी है, मेरा सचमुच मानना है कि आईपीएल का आयोजन होना चाहिए. मेरा मानना है कि यह क्रिकेट सत्र की शुरूआत होती है. मुझे लगता है कि दुनिया का प्रत्येक खिलाड़ी आईपीएल में खेलने के लिए बेताब है.’

आईपीएल सिर्फ खिलाड़ियों और फ्रेंचाइजी के लिए महत्वपूर्ण नहीं होता बल्कि इसके आयोजन के पीछे जो लोग काम करते हैं, उनके लिए भी अहम होता है. बकौल पीटरसन, ‘कोई तरीका होगा जिससे फ्रेंचाइजी कुछ धन कमा सकें जैसे कि आयोजन के लिए तीन स्थल लिए जाएं जो खेल प्रेमियों के लिए पूरी तरह बंद हों और खिलाड़ी तीन या चार हफ्ते के समय में टूर्नामेंट में खेल लें. इसलिए यह थोड़ा छोटा टूर्नामेंट होगा और वो भी तीन स्टेडियम में जिन्हें हम जानते हों कि ये सुरक्षित हैं.’

सुरेश रैना बोले- CSK के अभ्यास शिविर में किसी युवा की तरह बल्लेबाजी कर रहे थे महेंद्र सिंह धोनी

टूर्नामेंट 29 मार्च को शुरू होना था. मौजूदा हालात को देखते हुए इसके आयोजन की संभावना कम ही लगती है.

पीटरसन ने कहा, ‘मुझे नहीं लगता कि ऐसे हालात में दर्शकों का जोखिम लेने की जरूरत है. मुझे लगता है कि उन्हें समझने की जरूरत है कि वे इस समय स्टेडियम में मैच नहीं देख सकते.’

गौरतलब है कि कोविड-19 महामारी से अब तक दुनिया में लगभग 50 हजार से अधिक लोग अपनी जान गंवा चुके हैं जबकि इससे संक्रमित मरीजों की संख्या 10 लाख से अधिक हो गई है. भारत में कोरोनावायरस की चपेट में आकर अब तक 77 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 3 हजार से अधिक लोगे इससे संक्रमित हैं.