नई दिल्ली : भारत के युवा तेज गेंदबाज खलील अहमद को मंगलवार को मुंबई में वेस्टइंडीज के खिलाफ चौथे वनडे के दौरान विरोधी बल्लेबाज मार्लन सैमुअल्स को ‘आक्रामक’ विदाई के लिए चेतावनी और एक डिमेरिट अंक दिया गया. खलील को आईसीसी की आचार संहिता के लेवल एक के उल्लंघन का दोषी पाया गया. Also Read - महाराष्‍ट्र में COVID19 के 72 नए केस के साथ संक्रमितों का आंकड़ा 302

आईसीसी ने विज्ञप्ति में कहा, ‘‘यह घटना 14वें ओवर में हुई जब बायें हाथ का यह तेज गेंदबाज मार्लन सैमुअल्स को स्लिप में रोहित शर्मा के हाथों कैच कराने के बाद आक्रामक अंदाज में आउट होने वाले बल्लेबाज की ओर बढ़ा जो मैदानी अंपायरों की नजर में वेस्टइंडीज के खिलाड़ी को प्रतिक्रिया के लिए उकसा सकता था.’’ Also Read - 26/11 आतंकी हमले पर आधारित State Of Siege की खूब हो रही तारीफ, 9.7 की मिली रेटिंग

मुंबई वनडे में शतक जड़ने के बाद क्या सोच रहे थे रोहित शर्मा, मैच के बाद किया खुलासा Also Read - अगर सरकार हां करे, प्रवासियों को दिल्ली,मुंबई से पटना छोड़ आएंगे : स्पाइसजेट

खलील ने आचार संहिता के नियम 2 .5 का उल्लंघन किया जो ऐसी भाषा या इशारा करने से संबंधित है जिससे अंतरराष्ट्रीय मैच के दौरान आउट होने वाले बल्लेबाज को नीचा दिखाया जाए या जो उसे आक्रामक प्रतिक्रिया के लिए उकसाए. विज्ञप्ति के अनुसार लेवल एक के अपराध के लिए न्यूनतम सजा आधिकारिक फटकार और अधिकतम सजा खिलाड़ी की मैच फीस का 50 प्रतिशत जुर्माना है. उसे एक या दो डिमेरिट अंक दिए जा सकते हैं.

अगर 24 महीने के समय के दौरान खिलाड़ी के चार या इससे अधिक डिमेरिट अंक होते हैं तो यह निलंबन अंक में बदल जाते हैं और उसे प्रतिबंध का सामना करना पड़ता है. खलील ने चौथे वनडे में पांच ओवर में 13 रन देकर तीन विकेट चटकाए. भारत ने यह मैच 224 रन से जीतकर पांच मैचों की श्रृंखला में 2-1 की बढ़त बनाई.