भारतीय खेल मंत्री किरेन रिजीजू ने सेना के निशक्त जवानों और सदस्यों को स्कूबा डाइविंग करते देख खुद को भी इस खेल में उतार दिया. आज दिल्ली में सेना के पूर्व कमांडोज की संस्था स्पेशल फोर्सेज एडवेंचर्स ने जंग में हुए विकलांग जवानों के लिए स्कूबा डाइविंग का आयोजन किया था. ये संस्था इससे पहले चंडीगढ़ में भी ऐसा आयोजन कर चुकी है. इस मौके पर भारतीय फुटबॉल टीम के पूर्व कप्तान बाइचुंग भूटिया ने भी डाइविंग कर उन जवानों का मनोबल बढ़ाया.

इस अवसर पर केंद्रीय खेल मंत्री रिजीजू ने इस खेल के महत्वता की बात करते करते हुए कहा कि ऐसे एडवेंचर्स स्पोर्ट्स को आगे बढ़ाने के लिए सरकार काम करेगी. ये खेल अभी भारत में लोकप्रियता के घेरे से बहुत बाहर है, सरकार लोगों को ऐसे खेलों से अवगत कराने का काम भी करेगी. स्कूबा डाइविंग के बाद खेल मंत्री ये ने कहा कि हमारे देश में इस खेल की संभावना बहुत है. भारत जैसे देश में जहां लगभग हर गांव में नदियां और तालाब है वहां इस खेल का भविष्य बहुत उज्ज्वल दिखता है.

ये संस्था स्कूबा डाइविंग के प्रति गंभीर और सहज काम कर रही है. दिल्ली के लोग तालकटोरा परिसर स्थित भारतीय मुखर्जी पूल में शनिवार तक मुफ्त में स्कूबा डाइविंग कर सकते हैं.