कोलकाता: कोलकाता नाइटराइडर्स के कप्तान दिनेश कार्तिक ने आईपीएल एलिमिनेटर में राजस्थान पर 25 रन की जीत के बाद कहा कि इस तरह के मैचों में स्कोर से अधिक मायने खुद पर विश्वास रखता है. पहले बल्‍लेबाजी करते हुए जब कोलकाता ने 169 रनों का स्‍कोर खड़ा किया तो लगा कि वह 180 के आंकड़े से थोड़ा दूर रह गई है. लेकिन गेंदबाजों ने राजस्‍थान के बल्‍लेबाजों पर ऐसी लगाम कसी कि वे लक्ष्‍य से 25 रन दूर रह गए. इससे पहले बल्‍लेबाजी करते हुए भी कोलकाता खराब शुरुआत के बाद लड़खड़ाती दिख रही थीथी, लेकिन कप्‍तान कार्तिक के साथ शुभमन गिल और आंद्रे रसेल ने उसे चुनौतीपूर्ण स्‍कोर तक पहुंचा दिया.

कार्तिक ने कहा, ‘‘हम शुरू में दबाव में थे. शुभमान गिल को श्रेय जाता है जिन्होंने दबाव हटाया. उसने कुछ अच्छे शॉट खेले. इससे मेरे ऊपर से भी दबाव हटा और फिर आंद्रे (रसेल) की पारी विशेष थी. इस तरह के मैचों में स्कोर मायने नहीं रखता, यह विश्वास से जुड़ा है. बराबरी वाला स्कोर मायने नहीं रखता बल्कि आपका खुद पर विश्वास अधिक महत्व रखता है.’’ केकेआर अब दूसरे क्वालीफायर्स में सनराइजर्स हैदराबाद से भिड़ेगा. उन्होंने कहा, ‘‘गेंदबाजों ने सही लाइन व लेंथ से गेंदबाज की. इस चरण में हर मैच महत्वपूर्ण है. अगले मैच में दो अच्छी टीमें एक दूसरे से भिड़ेंगी.’’

वहीं, राजस्‍थान रॉयल्स के कप्तान अंजिक्य रहाणे ने हार पर निराशा जतायी. रहाणे ने कहा, ‘‘इस हार से निराश हूं विशेषकर तब जबकि हमने गेंदबाजी में शानदार शुरुआत की थी. रसेल का कैच छोड़ना महंगा पड़ा. लक्ष्य का पीछा करते हुए जब आप अच्छी शुरुआत करते हो तो मैच जीत सकते हो लेकिन केकेआर ने वास्तव में अच्छी गेंदबाजी की और हमें निराश किया.’’

रसेल को उनकी नाबाद 49 रन की पारी और किफायती गेंदबाजी के लिये मैन आफ द मैच चुना गया. उन्होंने कहा, ‘‘मैं बहुत अच्छा महसूस कर रहा हूं. किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ मैच के बाद हमारे लिए हर मुकाबला फाइनल जैसा था और इसलिए योगदान देकर अच्छा महसूस कर रहा हूं. मेरी रणनीति स्पष्ट थी कि मुझे गेंद के हिसाब से शॉट मारने हैं. अच्छी तरह शॉट लगने पर मैं जानता था कि गेंद छक्के या फिर चौके के लिए जाएगी.’’