केएल राहुल का बल्ला ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जारी टेस्ट सीरीज में खूब बोल रहा है। बैंगलोर टेस्ट की पहली पारी में 90 रन बनाने वाले राहुल ने दूसरी पारी में भी 51 रन की पारी खेली। इसके साथ ही उन्होंने अपने 15वें टेस्ट की 25 वीं पारी में टेस्ट क्रिकेट में अपने एक हजार रन पूरे किए। राहुल ने अपने करियर में अब तक चार अर्धशतक और 4 शतक जमाए हैं।

टेस्ट क्रिकेट में सबसे कम पारियों में एक हजार रन बनाने के मामले में राहुल ने सचिन तेंदुलकर और विराट कोहली को भी पीछे छोड़ दिया है। राहुल ने एक हजार रन बनाने के लिए 25 टेस्ट पारियां खेली हैं जबकि सचिन ने इसके लिए 30 पारियां और विराट कोहली ने 29 पारियां खेली थी। भारत की तरफ से सबसे कम पारियों में एक हजार रन बनाने का रिकॉर्ड विनोद कांबली के नाम है, जिन्होंने 14 पारियों में ही ये कमाल कर दिखाया था।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बैंगलोर टेस्ट की दोनों पारियों में अर्धशतक बनाकर केएल राहुल ने एक और रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया। अब वह बैंगलोर में टेस्ट की दोनों पारियों में अर्धशतक बनाने वाले तीसरे सलामी बल्लेबाज बन गए हैं।

उनसे पहले वेस्टइंडीज के गॉर्डन ग्रीनीज ने 1974 और भारत के अजय जडेजा ने 1995 में ये कारनामा किया था। यानी केएल राहुल बैंगलोर में ये कारनामा करने वाले अजय जडेजा के बाद दूसरे भारतीय बल्लेबाज हैं। इतना ही नहीं राहुल ने 22 साल बाद बैंगलोर में इस कारनामे को अंदाज दिया है। यह भी पढ़ें: चला जडेजा का जादू! सबसे कम ओवर फेंककर झटके सबसे ज्यादा 6 विकेट

भारत की पहली पारी में राहुल ने सबसे अधिक 90 रन की पारी खेली थी। भारत ने अपनी पहली पारी में 189 रन बनाए थे। केएल राहुल इस टेस्ट सीरीज में अब तक भारत की तरफ से हाफ सेंचुरी बनाने वाले एकमात्र बल्लेबाज हैं। पुणे टेस्ट में भी उन्होंने भारत की तरफ से एकमात्र हाफ सेंचुरी बनाई थी।