नई दिल्ली. कहते हैं मेहनत ही सबकुछ नहीं होती किस्मत का भी बड़ा रोल होता है. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टीम इंडिया के सलेक्शन में भी कुछ ऐसा ही देखने को मिला. वर्ल्ड कप के लिए टीम चुनने के लिहाज से भारतीय टीम का ये सलेक्शन बेहद खास था. इसमें मौका मिलने का मतलब ही यही था कि वो खिलाड़ी वर्ल्ड कप का दावेदार है. इस सलेक्शन में केएल राहुल को मौका दिए जाने की उम्मीद तो सबको थी लेकिन किसी ने भी ये नहीं सोचा था कि दिनेश कार्तिक. रवींद्र जडेजा और खलील अहमद को जगह नहीं मिलेगी. साफ है इन 3 खिलाड़ियों की मेहनत पर किस्मत ने पानी फेर दिया.

केएल राहुल की ‘बल्ले-बल्ले’

सबसे पहले बात केएल राहुल की जिन्हें T20 और वनडे दोनों सीरीज के लिए टीम में जगह मिली है. कुछ दिन पहले चीफ सलेक्टर एमएसके प्रसाद ने कहा था राहुल वर्ल्ड कप खेल सकते हैं लेकिन उन्हें रन बनाना होगा. पिछले काफी समय से फ्लॉप चल रहे राहुल को रन बनाने का यही मौका लगता है दिया गया है. राहुल को टीम में तीसरे ओपनर के तौर पर आजमाने के लिए जगह मिली है. अगर वो ऑस्ट्रेलिया से सीरीज में रन बनाते हैं तो वर्ल्ड कप में चौथे नंबर पर भी खेलते दिख सकते हैं.

कार्तिक-जडेजा की उम्मीद खत्म!

बहरहाल, दिनेश कार्तिक को T20 टीम में तो जगह मिली पर वनडे टीम में उनका न होना. उनके वर्ल्ड कप खेलने पर सवाल खड़े कर रहा है. मतलब ये कि भारतीय थिंक टैंक उनकी जगह रिषभ पंत को टीम में चाहता है. कुछ ऐसा ही रवींद्र जडेजा के साथ भी हुआ है. रवींद्र जडेजा तो न टीम इंडिया की T20 टीम का हिस्सा हैं और न ही वनडे टीम का. मतलब साफ है विजय शंकर और केदार जाधव के लिए वर्ल्ड कप खेलने के दरवाजे खुल चुके हैं.

ऑस्ट्रेलिया से T20 और वनडे मुकाबले के लिए टीम इंडिया का एलान, वनडे टीम में दिनेश कार्तिक नहीं

खलील भी दावेदारी से आउट! 

वर्ल्ड कप इंग्लैंड में खेला जाना है. लिहाजा, वहां के कंडीशन को देखते हुए हर किसी को उम्मीद थी कि भारत एक लेफ्ट आर्म पेसर तो आजमाएगा ही. लेकिन, खलील अहमद के T20 और वनडे टीम में जगह न मिलने से अब ये उम्मीद धुल चुकी है.