रांची टेस्ट में भारत के पहले तीन बल्लेबाजों केएल राहुल, मुरली विजय और चेतेश्वर पुजारा ने अर्धशतक बनाए। राहुल ने जहां मैच के दूसरे दिन हाफ सेंचुरी बनाई थी और वह दूसरे दिन ही 67 रन बनाकर आउट हुए थे। तो वहीं मुरली विजय और पुजारा ने तीसरे दिन अपने अर्धशतक पूरे किए। इसके साथ ही सात साल बाद एक रिकॉर्ड बन गया।

ये 2010 के बाद पहला अवसर है जब भारत के टॉप-3 बल्लेबाजों ने एक ही टेस्ट पारी में 50 प्लस का स्कोर बनाया हो। 2006 से 2010 के बीच टेस्ट मैचों में भारत की तरफ से आठ बार ये कारनाम हुआ, लेकिन 2010 के बाद से ऐसा पहली बार हुआ है।

राहुल 67 और विजय 82 रन बनाकर आउट हुए। विजय और पुजारा ने अपने टेस्ट करियर की 15वीं हाफ सेंचुरी जमाई। केएल राहुल ने अपने करियर की कुल पांचवीं और इस सीरीज की चौथी हाफ सेंचुरी जमाई। यह भी पढ़ें: मुरली विजय-पुजारा की शतकीय साझेदारी से बना रिकॉर्ड, इतिहास रचने से एक कदम दूर