मोहाली: क्रिस लिन की तूफानी पारी और शुभमान गिल के धैर्य और आक्रामकता से सजे अर्धशतक के दम पर कोलकाता नाइटराइडर्स ने शुक्रवार को यहां किंग्स इलेवन पंजाब को 12 गेंद शेष रहते हुए सात विकेट से हराकर आईपीएल 2019 के प्लेआफ में पहुंचने की अपनी उम्मीदें जीवंत रखी. लिन ने 22 गेंदों पर 46 रन की तूफानी पारी खेलकर केकेआर को शानदार शुरुआत दिलायी. दूसरे सलामी बल्लेबाज गिल ने एक छोर संभाले रखकर 49 गेंदों पर पांच चौकों और दो छक्कों की मदद से नाबाद 65 रन की पारी खेली, जिससे केकेआर ने 18 ओवर में तीन विकेट पर 185 रन बनाकर जीत दर्ज की. आंद्रे रसेल ने 14 गेंदों पर 24, रोबिन उथप्पा ने 14 गेंदों पर 22 रन और कप्तान दिनेश कार्तिक ने नौ गेंदों पर नाबाद 21 रन का योगदान दिया.

 

इससे पहले पंजाब ने बल्लेबाजी का न्यौता मिलने पर सैम कुरेन (24 गेंदों पर नाबाद 55) की जीवनदान मिलने के बाद खेली गयी अर्धशतकीय पारी तथा निकोलस पूरण (27 गेंदों पर 48 रन) की धुआंधार बल्लेबाजी की बदौलत खराब शुरुआत से उबरकर छह विकेट पर 183 रन बनाये थे. मयंक अग्रवाल ने 26 गेंदों पर 36 रन का योगदान दिया. केकेआर की यह 13 मैचों में छठी जीत है जिससे उसके 12 अंक हो गये हैं. प्लेऑफ में पहुंचने के लिये उसे न सिर्फ मुंबई इंडियन्स के खिलाफ अगले मैच में जीत दर्ज करनी होगी बल्कि सनराइजर्स हैदराबाद की हार की भी दुआ करनी होगी. किंग्स इलेवन पंजाब 13 मैचों में आठवीं हार से प्लेआफ की दौड़ से लगभग बाहर हो गया है.

लिन ने आक्रामक अंदाज में बल्लेबाजी की जिससे केकेआर पावरप्ले में 62 रन बनाने में सफल रहा. इस बीच आउट होने वाले एकमात्र बल्लेबाज लिन ही थे जिन्होंने छठे ओवर की आखिरी गेंद पर एंड्रयू टाई को वापस कैच थमाया लेकिन इससे पहले उन्होंने पांच चौके और तीन छक्के लगाये. अर्शदीप सिंह पर छक्का और फिर तीन चौके जड़ने वाले लिन ने रविचंद्रन अश्विन का स्वागत भी छक्के से किया. टाई की गेंद पर आउट होने से पहले उन्होंने लांग लेग पर दर्शनीय छक्का लगाया था. उनका स्थान लेने के आये उथप्पा ने मुरूगन अश्विन पर दो चौके और एक छक्का लगाया लेकिन आर अश्विन की गेंद पर वह हवा में लहराता कैच दे बैठे.

 

इस बीच पंजाब के रहने वाले गिल ने अपने घरेलू मैदान एक छोर मजबूती से थामे रखा. गिल ने आखिर में अपने तेवर आर अश्विन के खिलाफ दिखाये. पहले लांग आन और बैकवर्ड स्क्वायर लेग पर दो छक्के और फिर चौके से उन्होंने अपना अर्धशतक पूरा किया. रसेल ने टाई पर दो छक्के लगाकर अपने हाथ खोले. इनमें से दूसरा छक्का हालांकि अग्रवाल के हाथ से छिटककर बाहर गया था. शमी ने अगले ओवर में उन्हें पवेलियन भेजा, लेकिन कार्तिक और गिल ने पंजाब को वापसी नहीं करने दी. कार्तिक ने कुरेन पर एक छक्का और दो चौके लगाकर दो ओवर पहले ही टीम को लक्ष्यतक पहुंचा दिया. इससे पहले तेज गेंदबाज संदीप वारियर (31 रन देकर दो विकेट) ने पंजाब के दोनों सलामी बल्लेबाज केएल राहुल (दो) और क्रिस गेल (14) को पावरप्ले में ही पवेलियन भेजकर कोलकाता को शानदार शुरुआत दिलायी थी.

पूरण और अग्रवाल ने तीसरे विकेट के लिये 69 रन की साझेदारी टीम को इन झटकों से उबारा. पूरण ने अपनी पारी में तीन चौके और चार छक्के लगाये. कुरेन जब 17 रन पर थे तब रिंकू सिंह ने उनका आसान कैच छोड़ा जिसका उन्होंने पूरा फायदा उठाया तथा अपनी पारी में सात चौके और दो छक्के लगाये. मनदीप सिंह ने 25 रन का योगदान दिया. पंजाब को जब तेजी से स्कोर करने की जरूरत थी तब पूरण ने अपना आक्रामक पक्ष दिखाया. रसेल की गुडलेंथ और पीयूष चावला की गुगली पर बेहतरीन टाइमिंग से लगाये गये छक्के दर्शनीय थे. उन्होंने अपनी ताकत और कौशल का खुलकर प्रदर्शन किया लेकिन कामचलाऊ स्पिनर नितीश राणा की गेंद पर पर सीमा रेखा पर कैच देने से वह अर्धशतक पूरा नहीं कर पाये.

इस बीच दूसरे छोर पर अधिकतर समय सहयोगी की भूमिका निभाने वाले अग्रवाल भी रन आउट हो गये और फिर से अच्छी शुरुआत का फायदा उठाने में नाकाम रहे. नारायण की गेंद पर छक्का जड़ने के बाद जीवनदान पाने वाले कुरेन ने रसेल पर दो चौके तथा हैरी ग्रुनी की आखिरी चार गेंदों पर तीन चौके और एक छक्का लगाकर अर्धशतक पूरा किया. इससे उनकी टीम अंतिम दो ओवरों में 32 रन जुटाने में सफल रही.