नई दिल्ली : भारत के खिलाफ पहले टेस्ट में पारी और 272 रनों से करारी हार झेलने के बाद वेस्टइंडीज के कार्यवाहक कप्तान और सलामी बल्लेबाज क्रेग ब्रेथवेट ने कहा है कि बल्ले से बड़ी साझेदारियां न होना टीम को भारी पड़ा. विंडीज के बल्लेबाज तीसरे दिन ही अपनी दोनों पारियों में ढेर हो गए. पहली पारी में उसके लिए रोस्टन चेज ने सबसे ज्यादा 53 रन तो दूसरी पारी में केरन पावेल ने 83 रन बनाए. यह वेस्टइंडीज की टेस्ट में रनों के लिहाज से अभी तक की दूसरी सबसे बड़ी हार है. Also Read - भारतीय क्रिकेटरों के मुकाबले में अभी 'प्राइमरी क्लास' में हैं युवा ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी: ग्रेग चैपल

Also Read - ऋद्धिमान साहा को यकीन- समय के साथ बेहतर होगी रिषभ पंत की विकेटकीपिंग

मैच के बाद ब्रैथवेट ने कहा, “जाहिर सी बात है कि यह अच्छी शुरुआत नहीं है. इसका श्रेय भारत को जाता है. उन्होंने अच्छा खेल दिखाया और हमें बताया कि बल्लेबाजी कैसी की जाती है. बल्लेबाजी ईकाई के तौर पर हम कोई बड़ी साझेदारी नहीं कर सके और यह हमें भारी पड़ा.” Also Read - US President Joe Biden भारत के विनय रेड्डी का लिखा भाषण पढ़ेंगे, ऐसी है बाइडेन की Team India

INDvsWI: कुलदीप यादव ने तोड़ा वर्ल्ड रिकॉर्ड, ऐसा करने वाले टीम इंडिया के दूसरे गेंदबाज

उन्होंने कहा, “मेरा मानना है कि हमारे बल्लेबाज ऐसा करने में सक्षम हैं. हमें दो या तीन बड़ी साझेदारी की जरूरत थी. हमने बैठक में कहा था कि हमें रणनीति पर टिके रहना है. डिफेंस में भी सकारात्मक रहना है और अटैक में भी. हमें परिणाम नहीं मिले.” टीम के नियमित कप्तान जेसन होल्डर टखने की चोट के कारण पहले टेस्ट मैच में नहीं खेल पाए. ब्रेथवेट ने अगले मैच में होल्डर के खेलने पर कहा, “पता नहीं कि होल्डर अगले मैच में खेल पाएंगे या नहीं.”

INDvsWI: पृथ्वी शॉ का शानदार प्रदर्शन, ऐसा करने वाले टीम इंडिया के छठे खिलाड़ी

बता दें कि भारत और वेस्टइंडीज के बीच दो टेस्ट मैचों की सीरीजी खेली जानी है. सीरीज का पहला मैच भारत ने पारी और 272 रन से जीता. राजकोट में खेले गए इस मुकाबले में भारत ने पहले बैटिंग करते हुए 649 रन बनाकर पारी घोषित कर दी. जब कि वेस्टइंडीज की टीम पहली पारी में 181 रन और दूसरी पारी में 196 रन बनाकर ऑल आउट हो गयी. इस मुकाबले में भारत की ओर से तीन खिलाड़ियों ने शतक जड़े. जब कि पृथ्वी शॉ को मैन ऑफ द मैच चुना गया.