नेपियर: तेज गेंदबाजों की तरह से स्पिनर को भी अदद जोड़ीदार की कमी खलती है. इसलिए जब युजवेंद्र चहल भारत के सीमित ओवरों के मैचों के दौरान गेंदबाजी नहीं करते तो कुलदीप यादव को उनकी कमी खलती है.

दोनों कलाई के स्पिनरों ने अभी तक 36-36 वनडे खेले हैं और दोनों 30 मई से इंग्लैंड में शुरू होने वाले वर्ल्‍ड कप में भारत के अभियान में अहम साबित होंगे. हाल के समय में भारत ने एक बार फिर एक कलाई और एक अंगुली के स्पिनर को उतारकर प्रयोग किया लेकिन रविंद्र जडेजा बल्लेबाजों को परेशानी में डालने में असफल रहे. इसके बाद ध्यान फिर चाइनामैन और पारंपरिक लेग स्पिन जोड़ी पर आ गया.

NZ Vs Ind: केन विलियमसन ने माना, भारत के स्पिनर्स से हारा न्यूजीलैंड लेकिन जल्दबाजी में बदलाव से इंकार

कुलदीप ने ‘बीसीसीआई डॉट टीवी’ पर इंटरव्‍यू में चहल से कहा, ‘‘जब आप नहीं खेलते तो मुझे बहुत चीजों में आपकी कमी खलती है.’’ कुलदीप ने न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले वनडे में भारत की जीत के दौरान चार विकेट हासिल किए. उन्होंने कहा, ‘‘हम एक दूसरे की गेंदबाजी समझते हैं और पिच भी. हमेशा ऐसा नहीं होता कि हम एक साथ गेंदबाजी करते हैं. कई बार ऐसा होता है कि आप पहले गेंदबाजी करते हो और फिर मैं गेंदबाजी करता हूं लेकिन हम कई बार बात करते हैं कि पिच कैसे बर्ताव कर रही है और बल्लेबाज कैसे खेल रहा है.’’

कुलदीप+चहल यानी विपक्षी टीमों के लिए ज्यादा मुसीबत, भरोसा नहीं तो देखें ये आंकड़े

न्यूजीलैंड के खिलाफ इन दोनों ने छह विकेट चटकाए थे. उन्होंने कहा, ‘‘हम एक जैसी वैरिएशन करते हैं लेकिन इससे बल्लेबाज भ्रमित हो जाता है (जो कुछ और सोच रहा होता है). हमें दक्षिण अफ्रीका में काफी विकेट मिले, हमने भारत में कुछ विकेट हासिल किए और अब हमें न्यूजीलैंड में विकेट मिल रहे हैं.’’