नई दिल्ली. टीम इंडिया के कलाई के जादूगर यानी रिस्ट स्पिनर कुलदीप यादव का कमाल वर्ल्ड क्रिकेट में सिर चढ़कर बोल रहा है. इस बात से क्रिकेट की आलाकमान ICC भी मानती है, जिसने पिछले दिनों अपनी वनडे टीम ऑफ द ईयर में जगह दी. और, अब ताजा असर न्यूजीलैंड की टीम पर भी दिख रहा है. केन विलियम्सन एंड कंपनी अगर अपनी ही सरजमीं पर खेलते हुए, अपने ही लोगों के सामने अगर टीम इंडिया को हराने में असहाय महसूस कर रही है तो इसकी बड़ी वजह कुलदीप यादव हैं. भारत और न्यूजीलैंड के बीच खेले 5 वनडे मैचों की सीरीज के पहले दो मुकाबलों में कुलदीप ने बड़ा फर्क पैदा किया, जिसका फायदा टीम इंडिया को तो मिला लेकिन कीवी टीम उसके मार तले जीत को तरस गई.

न्यूजीलैंड में धोनी की राह पर विराट, सीरीज जीत पर मुहर के साथ ‘घर वापसी’ का इरादा

सीरीज में कुलदीप

नेपियर में खेले पहले वनडे में कुलदीप यादव ने 10 ओवर में 39 रन देकर 4 विकेट चटकाए और न्यूजीलैंड को 200 रनों के भीतर समेट दिया. दूसरे वनडे के लिए बस शहर और मैदान बदला , उसका कुलदीप के प्रदर्शन पर फर्क नहीं पड़ा. माउंट माउंगेई में खेले दूसरे वनडे में कुलदीप ने 10 ओवर की गेंदबाजी में 45 रन देकर 4 विकेट लिए. इस तरह कुलदीप दुनिया के पहले ऐसे स्पिनर बने, जिन्होंने न्यूजीलैंड में खेले पहले 2 वनडे में ही लगातार 4-4 विकेट लेने का कमाल किया.

कुलदीप ने 5 बार लिए 4 विकेट

कुलदीप से पहले न्यूजीलैंड में अनिल कुंबले और जवागल श्रीनाथ भी 2-2 बार 4-4 विकेट ले चुके हैं लेकिन इन्होंने लगातार नहीं लिए. भारतीय गेंदबाजों के बीच सबसे ज्यादा 10 बार 4 विकेट लेने का रिकॉर्ड अनिल कुंबले के नाम है. कुलदीप के करियर का ये 5वां मौका था जब उन्होंने 4 विकेट अपने नाम किए थे.

वेस्टइंडीज के ‘2’ का मुकाबला नहीं कर सके इंग्लैंड के ’20 बल्लेबाज’, पूरी टीम को कैसे हराते?

कुलदीप के पास एक और मौका

भारत का अगला मुकाबला भी माउंट माउंगेई में है. यानी, पिच के मिजाज और अंदाज दोनों से कुलदीप वाकिफ हैं और ये उनके लिए एक और मौका है फिर से 4 विकेट चटकाकर न्यूजीलैंड की सरजमी पर 4 विकेट लेने की हैट्रिक जमाने वाले पहले गेंदबाज बनने का. अगर कुलदीप ऐसा करते हैं तो एक नायाब रिकॉर्ड तो उनके नाम से जुड़ेगा ही साथ ही भारत सीरीज भी जीत जाएगा.