भारत के खिलाफ 2011 में मुंबई के वानखेड़े स्‍टेडियम में खेले गए फाइनल मैच को श्रीलंका के पूर्व खेल मंत्री द्वारा फिक्‍स बताए जाने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है।Also Read - बोर्ड के साथ वेतन विवाद के बाद श्रीलंकाई क्रिकेटर इसुरु उडाना ने लिया संन्यास

बुधवार को अरविंद डि सिल्‍वा से पूछताछ के बाद अब जांच समिति ने इस मामले में गुरुवार को पूछताछ के लिए कुमार संगकारा को बुलाने का निर्णय लिया है। Also Read - IND vs SL: श्रीलंका दौरे से स्वदेश लौटी टीम इंडिया, कोरोना पीड़ित 3 खिलाड़ी वहीं रुके

डेली मेल डॉट एलके की रिपोर्ट के मुताबिक, संगकारा को विशेष समिति ने गुरुवार को पूछताछ के लिए बुलाया है। विश्‍व कप 2011 के दौरान कुमार संगाकारा ही श्रीलंका की टीम के कप्तान थे। Also Read - भारत की टी20 वर्ल्ड कप टीम में Kuldeep Yadav को मिलना चाहिए मौका: Muttiah Muralitharan

इससे पहले श्रीलंकाई क्रिकेटर उपुल थरंगा से भी समिति ने मंगलवार को पूछताछ की थी। न्यूजफस्र्ट डॉट एलके की रिपोर्ट के मुताबिक, थरंगा विशेष जांच समिति के सामने पेश हुए। थरंगा ने उस मैच में 20 गेंदों पर सिर्फ दो रन बनाए थे और जहीर खान का शिकार बने थे।

थरंगा से पहले श्रीलंका के पूर्व कप्तान और मुख्य चयनकर्ता अरविंद डी सिल्वा से कथित तौर पर छह घंटे पूछताछ की गई थी। खेल मंत्री महिंदानंदा अलुथगमागे ने दावा किया था 2011 में मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में खेला गया फाइनल मैच फिक्स था।

उन्होंने कहा था, “2011 विश्व कप फाइनल फिक्स था, मैं अपनी बात पर कायम हूं। यह तब हुआ था जब मैं खेल मंत्री था।”

“मैं हालांकि देश की खातिर जानकारी साझा नहीं कर सकता। भारत के खिलाफ 2011 में खेला गया मैच, हम जीत सकते थे, लेकिन वो फिक्स था।”