सीमित ओवरों की सीरीज खेलने इंग्लैंड दौरे (ENG vs SL) पर गई श्रीलंकाई टीम टी20 यहां टी20 सीरीज हारने के बाद नए विवादों में घिर गई है. सोमवार को क्रिकेट जगत उस वक्त हैरान रह गया, जब श्रीलंका के तीन खिलाड़ी कुसल मेंडिस, दनुष्का गुणाथिलाका और निरोशान डिकवेला कोरोना वायरस से बचाव के लिए बनाए गए जैव सुरक्षित बायो बबल को तोड़कर टीम डरहम की सड़कों पर घूमते दिखाई दिए. जैसे ही श्रीलंकाई क्रिकेट बोर्ड को अपने इन खिलाड़ियों की अनुशासनहीनता का पता चला उसने तत्काल प्रभाव से तीनों खिलाड़ियों को श्रीलंका वापस लौटने का आदेश सुना दिया. अब माना जा रहा है इन तीनों खिलाड़ियों पर अनुशासन भंग करने के कारण बोर्ड इन पर और सख्त कार्रवाई करेगा.Also Read - हरमनप्रीत कौर की कप्तानी पारी की बदौलत श्रीलंका को हरा भारत ने टी20 सीरीज पर कब्जा किया

फिलहाल श्रीलंका क्रिकेट (SLC) ने भले इन खिलाड़ियों की मौजूदा दौरे से छुट्टी कर दी हो. लेकिन अभी उनके खिलाफ इस अनुशासनहीनता को लेकर कार्रवाई होना बाकी है. अगर श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड इन खिलाड़ियों पर सख्ती दिखाता है तो ये तीनों खिलाड़ी भारत के खिलाफ 13 जुलाई से शुरू होने वाली सीमित ओवरों की सीरीज में भी दिखाई नहीं देंगे. Also Read - Sri Lanka Women vs India Women, 2nd T20I: श्रीलंका ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया

श्रीलंका के खेल मंत्री नमल राजपक्षे ने भी इन खिलाड़ियों के इस व्यवहार की तीखी निंदा करते हुए श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड को इनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का आदेश दिया है. Also Read - SL vs AUS: ट्रेविस हेड की 70 रन की पारी से इंप्रेस दिखे एडम गिलक्रिस्ट, बोले- वॉर्नर संग ओपनिंग पर मिले मौका

नमल राजपक्षे ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘श्रीलंका क्रिकेट में सुधार के प्रयासों के तहत देश का प्रतिनिधित्व करने के लिए युवा खिलाड़ियों में अवसर और समय का निवेश किया जा सकता है. लेकिन इरादों में कमी और खराब अनुशासन बर्दाश्त नहीं किया जा सकता. जिन खिलाड़ियों ने नियमों का उल्लंघन किया है श्रीलंका क्रिकेट को उनके खिलाफ सख्त एक्शन लेना चाहिए.’

श्रीलंका क्रिकेट के एक अधिकारी के बयान पर गौर करें तो बोर्ड ने इन तीनों खिलाड़ियों के खिलाफ सख्त एक्शन का फैसला कर लिया है. क्रिकवायर की एक रिपोर्ट के मुताबिक SLC ने इन तीनों पर लंबे समय के लिए बैन लगा सकता है.

इस अधिकारी ने बताया कि अभी तक कुछ अधिकारिक तौर पर फैसला नहीं लिया गया है. लेकिन बोर्ड जो कदम उठाने जा रहा है उसके मुताबिक इन खिलाड़ियों पर तीन महीने से लेकर 1 साल तक का प्रतिबंध लगाया जा सकता है. इस बीच श्रीलंका की टीम इंग्लैंड में मंगलवार से तीन वनडे मैचों की सीरीज का आगाज करेगी.