नई दिल्ली. IPL में प्रीति जिंटा पंजाब के हर मैच में शिरकत करती दिखती है. वो हर मुकाबले का लुत्फ स्टेडिमय में बैठकर उठाती नजर आती हैं. लेकिन आगे से अगर 14 मई को पंजाब के मुकाबले हुए तो प्रीति उस मुकाबले को मैदान पर तो क्या टीवी पर भी नहीं देखना चाहेंगी. पंजाब की को-ऑनर की इस सोच के पीछे वजह क्या हो सकती है अब जरा वो भी जान लीजिए. दरअसल, इन सबके पीछे है RCB के खिलाफ खेले मुकाबले में किंग्स इलेवन पंजाब का घटिया प्रदर्शन.

14 मई को इसलिए नहीं देखेंगी मैच!

इंदौर के होल्कर स्टेडियम पर 14 मई को खेले मैच में पंजाब के बल्लेबाजों ने बैंगलोर के गेंदबाजों के सामने आसानी से सरेंडर कर दिया. सिर्फ 15.1 ओवर में 88 रन बनाकर पूरी टीम पवेलियन लौट गई. नतीजा ये हुआ कि RCB ने इस मैच में 10 विकेट से बड़ी जीत दर्ज की. अब आप सोचेंगे कि इस खराब प्रदर्शन का प्रीति जिंटा के 14 मई को मैच ना देखने से क्या लेना देना. तो हम आपको बता दें कि लेना देना है. पिछले सीजन में भी 14 मई के ही दिन पंजाब की टीम पुणे सुपरजाइंट के खिलाफ शर्मनाक तरीके से 73 रनों पर ढेर हो गई थी.

पहले चढ़े, फिर फिसले

इंदौर में मैच से पहले मैदान पर दिखा 'पोपट', नाचने लगे युवराज सिंह!

इंदौर में मैच से पहले मैदान पर दिखा 'पोपट', नाचने लगे युवराज सिंह!

IPL 2018 में एक वक्त किंग्स इलेवन पंजाब की टीम आसानी से प्ले ऑफ में अपनी जगह बनाती दिख रही थी. लेकिन अब तक 12 मुकाबले खेल चुकी इस टीम ने जिस अंदाज में पहले 6 में से 5 मुकाबले जीते और 1 हारे उसी तरीके से आखिरी के 6 मुकाबलों में उसने 5 गंवाए हैं जबकि सिर्फ 1 जीता है.

3 बल्लेबाज ही दहाई तक पहुंचे

RCB के खिलाफ पंजाब की टीम एक वक्त पर बिना विकेट खोए 36 रन बना चुकी थी लेकिन के एल राहुल के आउट होते ही ये टीम ताश के पत्तों की तरह ढह गई. टीम ने 10 विकेट 52 रनों पर गंवा दिए. 10 में से पंजाब के सिर्फ 3 ही बल्लेबाज दहाई के आंकड़े तक पहुंच पाए. पंजाब की ओर से सबसे ज्यादा रन एरॉन फिंच ने बनाए, जिन्होंने 23 गेंदों में दो चौके और एक छक्के की मदद से 23 रनों की पारी खेली. फिंच के अलावा राहुल ने 21 और गेल ने 18 रनों का योगदान दिया