आईपीएल के पूर्व अध्यक्ष ललित मोदी ने अपने इंस्टाग्राम और ट्विटर अकाउंट से टीम इंडिया के पूर्व कप्तान एमएस को इंडिया सीमेंट्स कंपनी द्वारा दिया गया एक ऑफर लेटर शेयर किया है.

इंडिया सीमेंट्स कंपनी बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष और आईपीएल टीम चेन्नई सुपरकिंग्स के मालिक एन श्रीनिवासन की कंपनी है. धोनी 2008 से 2015 तक चेन्नई सुपरकिंग्स टीम के कप्तान रहे थे.

ललित मोदी द्वारा शेयर किए गया ऑफर लेटर 29 मई 2012 का है, जिसमें धोनी को इंडिया सीमेंट्स कंपनी में वाइस प्रेसिडेंट (मार्केटिंग)  के तौर पर नियुक्त किए जाने की बात लिखी हुई है. इस ऑफर लेटर के मुताबिक धोनी को हर महीने 43000 रुपये प्रति बेसिक पे देने की बात कही गई है, साथ ही उन्हें हर महीने 21 हजार 970 रुपए महंगाई भत्ता , 20 हजार रु. स्पेशल पे और 60 हजार रु. स्पेशल अलाउंस दिए जाने की बात लिखी हुई है.

साथ ही धोनी को न्यूज पेपर-मैगजीन के लिए 175 रुपये और एंटरटेनमेंट के लिए हर महीने 4500 रुपए दिए जाने की बात लिखी हुई है. इतना ही नहीं ऑफर लेटर में ये भी लिखा गया है कि जब तक धोनी की पोस्टिंग चेन्नई में रहेगी, जहां इंडिया सीमेंट्स का मुख्यालय है, तब तक उनका बिजली, पानी और गैस का बिल रिम्बर्स होगा.

ललित मोदी ने इस ऑफर लेटर को शेयर करते हुए लिखा है कि सिर्फ भारत में ऐसा हो सकता है कि बार-बार नियमों को तोड़ा जाए. साथ ही ललित ने धोनी पर सवाल उठाते हुए पूछा है कि आखिर क्यों साल में सैकड़ों करोड़ों रुपये कमाने वाले धोनी इतनी कम सैलरी पर श्रीनिवासन के कर्मचारी बनने के लिए तैयार हो गए. ललित ने दावा किया है कि ऐसे कई और करार किए गए हैं.

हालांकि ललित मोदी द्वारा शेयर किए गए ऑफर लेटर पर सोशल मीडिया पर लोगों ने सवाल उठाते हुए इसे फर्जी करार दिया है. ललित मोदी मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों में इस समय देश से फरार हैं. सोशल मीडिया पर लोगों ने ललित पर तंज कसते हुए कहा है कि अगर वह यही बात भारत आकर कहें तो समझ में आए.

ये पहली बार नहीं है जब धोनी और श्रीनिवासन के रिश्तों को लेकर विवाद उठा है. श्रीनिवासन के बीसीसीआई अध्यक्ष पद पर रहने के दौरान उन पर ये आरोप लगते रहे कि उनकी वजह से ही कई बार खराब प्रदर्शनों के बावजूद धोनी को कप्तानी से नहीं हटाया गया.