कोलंबो: वनडे क्रिकेट से संन्यास लेने वाले श्रीलंका के महान तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा ने कहा क्रिकेट में टिके रहने के लिए आपका मैन-विनर होना जरूरी है. मलिंगा ने शुक्रवार को बांग्लादेश के खिलाफ अपना आखिरी वनडे मैच खेला. आखिरी मुकाबले में भी मलिंगा ने धारदार गेंदबाजी की और 38 रन देकर तीन विकेट चटकाए. मेजबान टीम ने 91 रनों से मुकाबला जीतकर मलिंगा को दमदार विदाई दी.Also Read - शानदार फॉर्म में Usman Khawaja, पिछली 9 पारियों में जड़ चुके 4 शतक

Also Read - INDW vs SLW 3rd T20I Live Streaming: टीवी पर नहीं देख सकेंगे लाइव मैच, सिर्फ इस ऐप पर उपलब्ध होगा मुकाबला

Also Read - MP vs MUM, Final Match- Day 2 Highlights: मुंबई के 374 रन के जवाब में मध्य प्रदेश का करारा जवाब

मैच के बाद मलिंगा ने कहा कि मेरे कप्तान मुझसे विकेट लेने की उम्मीद करते हैं. मैंने अपने पूरे करियर में अपना बेस्ट देने का प्रयास किया है. मैं उम्मीद करता हूं कि युवा गेंदबाज अच्छी गेंदबाजी करेंगे क्योंकि क्रिकेट में हर कोई आगे नहीं जा सकता. आपको मैच-विनर बनना पड़ेगा. मलिंगा ने कहा कि मैं भविष्य में यही देखना चाहता हूं. इन युवा गेंदबाजों को मैच जीतने वाला प्रदर्शन करना होगा जिससे लोगों को कहना पड़े कि यह एक मैच विनर गेंदबाज है. हमारे पास कुछ गेंदबाज हैं और हमें उनकी देखभाल करनी होगी.

SLvBAN: कुसाल परेरा का शतक, श्रीलंका ने जीत के साथ दी मलिंगा को विदाई

वनडे क्रिकेट में तीन हैट्रिक लेने वाले मलिंगा एकलौते गेंदबाज हैं. उन्होंने इस प्रारूप में 226 मैचों में कुल 338 विकेट लिए हैं. उन्होंने 2004 में श्रीलंका के लिए पहला मैच खेला था. मलिंगा ने घरेलू दर्शकों के सामने संन्यास लेने का फैसला किया और उनके इस फैसले का सम्मान करते हुए हजारों दर्शक अपने इस चहेते खिलाड़ी को विदाई देने पहुंचे.

मलिंगा ने कहा कि मैंने पिछले 15 साल श्रीलंका के लिए खेला. देश के लिए खेलना सम्मान की बात है और मेरा समर्थन करने वाले इन लोगों एवं दर्शकों के लिए खेलकर मैं वास्तव में बहुत खुश हूं. मुझे लगता है कि अब मुझे आगे बढ़ने होगा क्योंकि हमें 2023 विश्व कप के लिए टीम बनानी है और इसलिए मुझे एहसास हुआ कि ठीक है मेरा समय खत्म हो गया है और मुझे जाना चाहिए.