Live Updates

नई दिल्ली: भारत की स्वप्ना बर्मन ने इंडोनेशिया के जकार्ता में जारी 18वें एशियन गेम्स के 11वें दिन बुधवार को महिलाओं की हेप्टाथलान स्पर्धा में भारत की झोली में स्वर्ण पदक डाला. बर्मन ने कुल सात स्पर्धा के बाद 6026 अंकों के साथ स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाया. Also Read - दुती चंद ने 200 मीटर फर्राटा दौड़ में गोल्ड के साथ किया सीजन का अंत

स्वप्ना ने 100 मीटर में हीट-2 में 981 अंकों के साथ चौथा स्थान हासिल किया था. ऊंची कूद में 1003 अंकों के साथ पहले स्थान पर कब्जा जमाया. गोला फेंक में वह 707 अंकों के साथ दूसरे स्थान पर रहीं. 200 मीटर रेस में उन्होंने हीट-2 में 790 अंक लिए. लंबी कूद में वह 865 अंकों के साथ दूसरे स्थान पर रहीं. भालाफेंक में उन्होंने 872 अंकों के साथ पहला स्थान हासिल किया. 800 मीटर रेस में वह 808 अंकों के साथ चौथे स्थान पर रहीं. Also Read - नीरज चोपड़ा, हिमा दास और दुती चंद टोक्यो ओलंपिक 2020 तक नेशनल कैंप का होंगे हिस्सा

वहीं भारत के लिए 11वें दिन दूसरा गोल्ड मेडल जीता अरपिंदर सिंह ने. अरपिंदर ने पुरुषों की ट्रिपल जंप स्पर्धा में शानदार प्रदर्शन करते हुए स्वर्ण पदक अपने नाम किया. अरपिंदर ने बुधवार को हुए फाइनल में 16.77 मीटर की सर्वश्रेष्ठ छलांग के साथ सोने का तमगा हासिल किया. वह फाइनल में अच्छी शुरुआत नहीं कर पाए और पहले प्रयास में फाउल कर बैठे. लेकिन दूसरी बार में उन्होंने 16.58 मीटर की छलांग लगाई. तीसरे प्रयास में अरपिंदर ने दमदार प्रदर्शन किया और 16.77 मीटर की दूरी तय की.

इस प्रयास के बाद हालांकि दो प्रयास बचे हुए थे लेकिन बाकी प्रतिस्पर्धियों की छलांग से लग गया था कि अरपिंदर स्वर्ण अपने नाम कर लेंगे. अगले प्रयास में उन्होंने 16.08 मीटर की छलांग लगाई. चौथे और पांचवें प्रयास में अरपिंदर फाउल कर बैठे लेकिन कोई भी खिलाड़ी उनकी 16.77 मीटर की छलांग से आगे नहीं निकल पाया.

इसके अलावा भारत की महिला धावक दुती चंद ने एशियन गेम्स के 11वें दिन 200 मीटर स्पर्धा में सिल्वर मेडल जीता. दुती ने फाइनल में 23.20 सेकेंड का समय निकालते हुए दूसरा स्थान हासिल किया. इन खेलों में दुती का यह दूसरा सिल्वर मेडल है. इससे पहले उन्होंने 100 मीटर स्पर्धा का सिल्वर मेडल अपने नाम किया था.

बहरीन की इडीडोंग ओडियोंग ने 22.96 सेकेंड में रेस पूरी की और पहले पायदान पर रहते हुए स्वर्ण पदक पर कब्जा किया. चीन की योंगली वेई ने कांस्य पदक जीता. उन्होंने 23.27 सेकेंड का समय निकालते हुए पदक अपने नाम किया.