कोविड-19 महामारी की रोकथाम के लिए पूरे देश में लॉकडाउन को भले ही 31 मई तक बढ़ा दिया गया हो बावजूद इसके खिलाड़ियों के लिए रविवार देर शाम अच्छी खबर आई. गृह मंत्रालय ने कोरोना वायरस के कारण लगे लॉकडाउन के चौथे चरण में खेल परिसरों और स्टेडियम को  खोलने की अनुमति दी जिससे संभवत: खिलाड़ियों का अभ्यास शुरू करने का रास्ता साफ हो गया जो मार्च के मध्य से ही बंद है. Also Read - विदेश से आने वाले भारतीयों को अब 7 दिन रहना होगा क्वारंटाइन, वापस किए जाएंगे बचे हुए पैसे

लॉकडाउन के दौरान पालन किए जाने वाले दिशा-निर्देशों में से एक में लिखा, ‘खेल परिसर और स्टेडियमों को खोलने की अनुमति दी जाएगी, हालांकि दर्शकों को अनुमति नहीं होगी.’ तीसरे चरण का लॉकडाउन सोमवार को समाप्त हो गया लेकिन इसे 31 मई तक बढ़ा दिया गया है. Also Read - छत्तीसगढ़ में Coronavirus के 15 नए केस, कुल आंकड़ा, 307 लेकिन कोई भी मौत नहीं

भारत में अभी तक 90,000 से ज्यादा कोविड-19 मामले सामने आए हैं जिसमें करीब 3000 लोग जान गंवा चुके हैं. हालांकि खेलों को उन कार्यक्रमों और जश्न में शामिल किया गया है जिन्हें अब तक अनुमति नहीं मिली है. Also Read - बिहार में Coronavirus के 133 नए मामले, बढ़कर कुल 2870 हुए, पढ़े जिलेवार डिटेल

देशव्यापी लॉकडाउन मार्च के मध्य से शुरू हुआ था और भारतीय खेल प्राधिरकण के पटियाला और बेंगलुरू में परिसरों में शीर्ष खिलाड़ी अभ्यास शुरू करने की मांग कर रहे हैं.

इस समय पूरी दुनिया में खेल की लगभग सभी प्रतियोगिताएं या तो स्थगित कर दी गई हैं या उन्हें रद्द कर दिया गया है. हालांकि अब कई देश धीरे-धीरे अपने यहां खेलों को फिर से शुरू करने पर विचार कर रहे हैं.

तब धूमल ने कहा था कि टीम इंडिया अगले सप्ताह से ट्रेनिंग शुरू कर देगी 

हाल में बीसीसीआई के राजस्व अधिकारी अरुण धूमल ने कहा था कि टीम इंडिया अगले सप्ताह ट्रेनिंग शुरू कर देगी. धूमल ने कहा था कि कोरोना वायरस लॉकडाउन के बीच बीसीसीआई अगले हफ्ते से भारतीय खिलाड़ियों के ट्रेनिंग शुरू करना चाहती है. टीम इंडिया के शीर्ष बल्लेबाज कोहली और रोहित लॉकडाउन के दौरान मुंबई में स्थित अपने घर में हैं. ऐसे में इन दोनों बल्लेबाजों का ट्रेनिंग में शामिल हो पाना मुश्किल है.

बैंगलोर स्थित नेशनल क्रिकेट अकादमी द्वारा आयोजित की जाने वाली ट्रेनिंग के बारे में धूमल ने कहा था, ‘लॉकडाउन के नियमों को देखते हुए फिलहाल हम ऑनलाइड मॉडल और एप पर काम कर रहे हैं. कोच और सपोर्ट स्टाफ लगातार खिलाड़ियों के साथ संपर्क में बने हुए हैं.’