नई दिल्ली : किंग्स इलेवन पंजाब के सलामी बल्लेबाज केएल राहुल ने सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ 213 रन के बड़े लक्ष्य का पीछा करते हुए शुरू में धीमी बल्लेबाजी करने का बचाव करते हुए कहा कि क्रिस गेल और उनमें से किसी एक को ताबड़तोड़ रन बनाने थे जबकि दूसरे को क्रीज पर टिके रहने की कोशिश करनी थी. बड़े लक्ष्य के सामने राहुल ने 56 गेंदों पर 79 रन बनाये लेकिन उन्हें दूसरे छोर से सहयोग नहीं मिला और किंग्स इलेवन पंजाब आखिर में आठ विकेट पर 167 रन ही बना पाया.

राहुल ने बाद में कहा, ‘‘यह हमारी रणनीति थी. क्रिस गेल और मेरे में से कोई एक 15-16 ओवर तक टिके रहना चाहता था ताकि अन्य उस हिसाब से तेजी से रन बना सकें.’’ उन्होंने कहा, ‘‘इसका मतलब यह नहीं कि आप अपने शॉट नहीं खेलो. मैंने कुछ अवसरों पर शॉट खेलने का प्रयास किया. इनमें से कुछ अवसरों पर मैं सफल रहा, गेंद सीमा रेखा पार गयी तो कुछ शॉट क्षेत्ररक्षकों के पास चले गये.’’

वॉर्नर ने घर वापसी से पहले टीम के लिए लिखा इमोशनल मैसेज

राहुल ने भले ही 141.07 के स्ट्राइक रेट से रन बनाये लेकिन एक समय उन्होंने 36 गेंदों पर केवल 39 रन बनाये थे जबकि उनकी टीम को 15 रन प्रति ओवर से अधिक की दर से रन बनाने थे. राहुल ने कहा, ‘‘एक बल्लेबाज के रूप में हमेशा आपको धमाकेदार शुरुआत नहीं मिलेगी. आप हर समय 20 गेंदों पर 50 रन नहीं बना सकते. मुझे पता था कि क्रीज पर पांव जमाने के बाद मैं उसका फायदा उठा सकता हूं. हम अच्छी साझेदारियां नहीं निभा पाये. ’’