नई दिल्ली : लोकेश राहुल टीम इंडिया के प्रतिभाशाली खिलाड़ियों की श्रेणी में आता हैं. उनकी तारीफ वर्ल्ड क्रिकेट के कई दिग्गज खिलाड़ी कर चुके हैं. राहुल ने इंटरनेशनल मैचों में कई बार खुद को बेहतर साबित किया. लेकिन पिछले कुछ समय से उनका बल्ला खामोश चल रहा है. ऐसे में आलोचक कई बार उन पर जुबानी हमला भी कर चुके हैं. राहुल के लिए साल 2018 ज्यादा अच्छा नहीं रहा. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पर्थ टेस्ट में भी राहुल बिना किसी विशेष योगदान के पवेलियन लौटे. हालांकि इसके बावजूद कप्तान विराट कोहली और टीम मैनेजमेंट उन्हें बार बार मौका दे रहा है. Also Read - भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच Boxing Day Test मेलबर्न की जगह एडिलेड में हो सकता है, ये है वजह

Also Read - कोविड-19 प्रतिबंधों के कारण इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह सकता है ये ऑस्ट्रेलियाई ओपनर, जानिए पूरी डिटेल

दरअसल भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच पर्थ में टेस्ट सीरीज का दूसरा मैच खेला जा रहा है. राहुल पहली पारी में सिर्फ 2 रन बनाकर आउट हुए. इससे पहले एडिलेड टेस्ट की पहली पारी में भी वो 2 रन बनाकर आउट हुए. हालांकि यहां दूसरी पारी में ठीक-ठाक खेल गए थे. लेकिन अब एक बार फिर से वो मैदान पर संघर्ष करते नजर आ रहे हैं. Also Read - CA ने ‘दादा’ की बात मानने से किया इनकार, टीम इंडिया को AUS में पूरा करना होगा दो सप्‍ताह का पृथकवास

राहुल को पर्थ टेस्ट के दूसरे दिन जोश हेजलवुड ने बोल्ड किया. हालांकि हेजलवुड ने जिस गेंद पर उन्हें आउट किया, उसकी भी काफी तारीफ हुई. असल में वह गेंद काफी खतरनाक थी. लेकिन राहुल की किस्मत उनके साथ नहीं थी. लिहाजा उन्हें आउट होकर पवेलियन लौटना पड़ा.

VIDEO: हेजलवुड ने लोकेश राहुल को दिया चकमा, पहली ही गेंद पर किया OUT

अगर राहुल की पिछली 16 पारियों पर नजर डालें तो वो 8 बार बोल्ड हुए हैं. जब कि चार बार एलबीडब्ल्यू और चार बार कैच आउट हुए हैं. उन्होंने वेस्टइंडीज और इंग्लैंड के खिलाफ पिछली सीरीज में खराब प्रदर्शन किया. वो राजकोट टेस्ट मैच में बिना खाता खोले आउट हो गए थे. जब कि हैदराबाद में महज 4 रन बना पाए. हालांकि दूसरी पारी में 33 रन का योगदान दिया था. अगर टेस्ट सीरीज से हटकर वनडे और टी-20 पर नजर डालें तो यहां भी यही हाल है. राहुल ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पिछले 3 टी-20 मैचों में सिर्फ 27 रन बनाए हैं. हालांकि इसके बावजूद उन्हें बार-बार मौका दिया जा रहा है.