नई दिल्ली: सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल अफगानिस्तान के खिलाफ होने वाले एकमात्र टेस्ट मैच में अंगूठे की चोट से जूझ रहे विकेटकीपर रिद्धिमान साहा के स्थान पर विकेटकीपर की जिम्मेदारी संभालने के लिए तैयार हैं. लोकेश का कहना है कि अगर भारतीय क्रिकेट टीम की मांग होगी, तो वह विकेटकीपिंग करने के लिए भी सक्षम हैं. आईपीएल 2018 के क्वालीफायर-2 में कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ खेले गए मैच में चोट के कारण साहा 14 जून से शुरू हो रहे टेस्ट मैच में अपनी प्रतिभागिता के लिए आशवस्त नहीं हैं.

राहुल ने एक इंटरव्यू में कहा, “मैं हमेशा दोहरी चुनौती के लिए तैयार हूं. मैं कड़ा प्रशिक्षण कर रहा हूं और अगर टीम की मांग हुई, तो विकेटकीपर की भूमिका भी संभालूंगा.” आईपीएल में भी राहुल ने विकेटकीपिंग का काम किया था और इसमें अच्छा प्रदर्शन भी किया था. इसके अलावा, वह टूर्नामेंट में सबसे अधिक स्कोर करने वाले खिलाड़ियों की सूची में तीसरे स्थान पर रहे. उन्होंने 54.91 की औसत से 659 रन बनाए. राहुल ने 14 पारियों में छह अर्धशतक लगाए.

इंग्लैंड ने पाक को पहली पारी में 174 रन पर समेटा, ब्रॉड ने झटके 3 विकेट

भारत की लोकप्रिय घरेलू टी-20 लीग में विकेटकीपर की नई भूमिका के बारे में राहुल ने कहा, “यह पहली बार नहीं है कि मैंने दोहरी चुनौती को स्वीकार किया है. मुझे पता है कि यह मेरे शरीर के लिए थोड़ा मुश्किल है, क्योंकि मैंने पूरे साल नियमित रूप से ऐसा नहीं किया है. इसीलिए, आप टीम की मांग चाहते हो.”

राहुल ने कहा, “मैं इसे एक चुनौती के रूप में लूंगा और विकेटकीपिंग पर काम करूंगा. यह एक टीम का खेल है और आपको टीम की इच्छा के अनुसार इस भूमिका को निभाने के लिए तैयार रहना पड़ेगा.”

फाइनल जीत के बाद CSK के खिलाड़ियों ने जमकर की पार्टी, वीडियो हुआ वायरल

बता दें कि आईपीएल 2018 के ऑक्शन में राहुल को किंग्स इलेवन पंजाब ने खरीदा था. इस सीजन में उन्होंने 14 मैच खेलते हुए 659 रन बनाए. इस दौरान राहुल ने 6 अर्धशतक भी जड़े. इस प्रतिभाशाली खिलाड़ी ने आईपीएल के सीजन 11 में 158.41 की स्ट्राइक रेट से रन बनाए. अगर विकेटकीपिंग की बात करें तो राहुल ने इस सीजन में 10 कैच लपके. जब कि एक स्टम्प आउट भी किया.