नई दिल्ली : पूर्व कप्तान महेला जयवर्धने ने विश्व कप में श्रीलंका की बल्लेबाजी पर चिंता जताते हुए कहा कि 1996 की चैम्पियन टीम को बल्ले से बेहतर प्रदर्शन करना होगा ताकि गेंदबाज दबाव में नहीं आये. न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले मैच में श्रीलंका 136 रन पर आउट हो गया जबकि अफगानस्तान ने उसे 201 रन पर आल आउट कर दिया था.

जयवर्धने ने आईसीसी के लिये अपने कालम में कहा, ‘‘इसमें कोई शक नहीं कि श्रीलंका को बेहतर बल्लेबाजी करनी चाहिये. इतनी अच्छी शुरूआत के बाद कुसाल परेरा ने पारी को संवारा और दो बड़ी साझेदारियां बनी. इस तरह से मध्यक्रम को बिखरते देखना दुखद रहा.’’

उन्होंने कहा, ‘‘मोहम्मद नबी ने अच्छी गेंदबाजी की लेकिन स्पिनरों को ज्यादा मदद नहीं मिल रही थी. श्रीलंका ने मध्यक्रम में जिस तरह से विकेट गंवाये , वह चिंता का विषय है. उन्हें बेहतर प्रदर्शन करके विरोधी गेंदबाजों पर दबाव बनाना चाहिये.’’

विश्वकप 2019: कोहली ने रबाडा के बयान पर दी प्रतिक्रिया, कहा- सामने रह कर करूंगा बात

पाकिस्तान के खिलाफ अगले मैच के बारे में उन्होंने कहा, ‘‘पाकिस्तान के सामने मुकाबला रोचक होगा. न्यूजीलैंड के खिलाफ कम स्कोर वाले मैच के बाद इस मैच में भी रन नहीं बने. उम्मीद है कि आगे हम बड़ा स्कोर बनायेंगे.’’

जयवर्धने ने कहा कि श्रीलंकाई बल्लेबाजों में आत्मविश्वास की कमी दिखी. उन्होंने कहा, ‘‘कार्डिफ में 250 से अधिक रन बन सकते थे. उम्मीद है कि इस जीत से टीम का मनोबल बढेगा जिसकी अभी कमी लग रही है.’’