नई दिल्ली: इंग्लैंड के खिलाफ 3 टी-20 मैचों की सीरीज के आखिरी मैच में भारत को मिली जीत के हीरो रोहित शर्मा रहे. रोहित ने नाबाद शतकीय पारी खेली. वहीं टीम के गेंदबाजों ने भी अहम भूमिका निभाई. इससे इतर एक खिलाड़ी और भी था जो अगर नहीं होता तो भारतीय टीम के लिए यह मुकाबला जीतना थोड़ा कठिन हो जाता. हम बात कर रहे हैं महेन्द्र सिंह धोनी की. जिन्होंने बतौर विकेटकीपर तीसरे मुकाबले में बहुत ही अहम भूमिका निभाई. धोनी ने विकेटकीपिंग करते हुए 5 कैच लपके. उन्होंने इस मुकाबले में एक ऐसा रिकॉर्ड भी बनाया जो वर्ल्ड क्रिकेट में आज तक कोई नहीं बना पाया.

दरअसल धोनी ने जेसन रॉय, एलेक्स हेल्स, ईयान मोर्गन, जॉनी बेयरस्टो और लियाम प्लंकेट के अहम कैच लिए. इन पांचों खिलाड़ियों को पवेलियन भेजना का क्रेडिट जितना गेंदबाजों को जाता है उतना ही धोनी को भी जाता है. धोनी ने इस मुकाबले में कुल 5 कैच लपके. टी-20 इंटरनेशनल मैच में अभी तक कोई खिलाड़ी ऐसा नहीं कर पाया है. लेकिन धोनी ने यह कारनाम कर टीम इंडिया की जीत में अहम भूमिका निभाई. धोनी की इस बड़ी उपलब्धि के बारे में बीसीसीआई ने ट्वीट करके फैन्स को जानकारी भी दी.

इंग्लैंड को 2-1 से हराने के बाद कोहली ने रोहित को नहीं बल्कि इस खिलाड़ी को दिया जीत का श्रेय

रोहित ने हासिल किया ऐतिहासिक मुकाम, ऐसा करने वाले भारत के पहले बल्लेबाज

गौरतलब है कि इंग्लैंड के खिलाफ खेली गई टी-20 सीरीज में भारत ने 2-1 से जीत हासिल की. सीरीज के आखिरी मैच में इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 9 विकेट खोकर 198 रन बनाए. जब कि टीम इंडिया ने 3 विकेट खोकर 18.4 ओवर में ही यह लक्ष्य हासिल कर लिया. भारत की ओर से शानदार बल्लेबाजी करते हुए रोहित ने 56 गेंदों का सामना करते हुए 5 छक्कों और 11 चौकों की मदद से नाबाद 100 रन बनाए. वहीं विराट कोहली ने 29 गेंदों का सामना करते हुए 2 छक्कों और 2 चौकों की मदद से 43 रन की अहम पारी खेली.