नई दिल्ली : टीम इंडिया के ऑलराउंडर खिलाड़ी रविन्द्र जडेजा ने लम्बे समय बाद वनडे टीम में वापसी की. उन्होंने वापसी के साथ ही खुद को बेहतर साबित कर दिया. फॉर्म में चल रहे जडेजा ने भारत और बांग्लादेश के बीच दुबई में खेले जा रहे मैच में 4 विकेट झटक कर बांग्लादेशी बैटिंग लाइनअप को सकते में डाल दिया. एशिया कप 2018 के पहले सुपर फोर मैच में जडेजा ने 10 ओवर फेंकते हुए सिर्फ 29 रन दिए. उनके एक ओवर में विकेटकीपर महेन्द्र सिंह धोनी ने शानदार कैच पकड़ा, जिससे बांग्लादेशी खिलाड़ी मोसादेक हुसैन आउट होकर पवेलियन लौटे. Also Read - ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज से पहले टीम इंडिया में ऑलराउंडर खिलाड़ियों की कमी

Also Read - KBC 12: MS Dhoni के सवाल पर कंटेस्टेंट ने इस्तेमाल की 2 लाइफलाइन, क्या आपको पता है इसका जवाब

दरअसल टॉस हारकर पहले बैटिंग करने उतरी बांग्लादेश की शुरुआत बेहद खराब रही. टीम के लिए लिटन दास और निजमुल हुसैन ओपनिंग करने आए. इस दौरान निजमुल 7 रन बनाकर बुमराह की गेंद पर आउट हुए. जब कि लिटन 7 रन बनाकर भुवनेश्वर कुमार की गेंद पर आउट हुए. इन दो खिलाड़ियों के आउट होने के बाद 3 अहम विकेट जडेजा ने झटके. उन्होंने अपने आखिरी ओवर में मोसादेक हुसैन को पवेलियन भेजा. मोसादेक कैच आउट हुए और उनका कैच धोनी ने पकड़ा, जिसकी काफी सराहना की जा रही है. Also Read - MS Dhoni के मेंटर रहे देवल सहाय का लंबी बीमारी के बाद निधन, रांची में ली अंतिम सांस

INDvsBAN: रविन्द्र जडेजा के चंगुल में फंसे बांग्लादेशी खिलाड़ी, VIDEO में देखें खतरनाक गेंदबाजी का मंजर

बांग्लादेशी पारी के दौरान 34वां ओवर जडेजा कर रहे थे. यह उनका 10वां और आखिरी ओवर था. जडेजा ने इस ओवर की दूसरी गेंद काफी अच्छी फेंकी, जिसे मोसादेक समझ नहीं पाए और गेंद उनके बल्ले को छूती हुई सीधा विकेटकीपर के दस्तानों में चली गई. यह कैच धोनी ने बहुत ही आसानी से पकड़ लिया. इस तरह बांग्लादेशी बैटिंग लाइनअप बुरी तरह ध्वस्त हो गया.

देखें वीडियो :

VIDEO: केदार जाधव ने पक़ड़ा ‘कैच ऑफ द मैच’, देखें किस तरह लिटन दास को किया आउट

गौरतलब है कि जडेजा की वनडे फॉर्मेट में लम्बे समय बाद वापसी हुई है. उन्होंने अपनी वापसी के साथ ही बेहतरीन प्रदर्शन कर कप्तान रोहित शर्मा और टीम मैनेजमेंट के फैसले को सही साबित किया. उन्होंने बांग्लादेशी खिलाड़ी शाकिब अल हसन, मुशफिकुर रहीम, मोहम्मद मिथुन और मोसादेक हुसैन को पवेलियन भेजा. इस मैच में उन्होंने 10 ओवर किए, जिसमें 4 विकेट लेकर सिर्फ 29 रन दिए. हालांकि इस दौरान एक नो बॉल भी फेंकी.