नई दिल्ली : टीम इंडिया ने इंग्लैंड को टी-20 सीरीज में 2-1 से हरा दिया. सीरीज के आखिरी मैच भारत ने 7 विकेट से जीत हासिल की. भारतीय टीम की जीत में धोनी ने बहुत ही अहम भूमिका निभाई. इस मैच में टीम के विकेटकीपर महेन्द्र सिंह धोनी ने 5 कैच लपके. टी-20 इंटरनेशनल में वो ऐसा करने वाले पहले खिलाड़ी हैं. मैच खत्म होने के बाद भारतीय टीम के खिलाड़ियों को विनिंग ट्रॉफी दी गई. लेकिन इस दौरान देखा गया कि हमेशा की तरह धोनी सबसे पीछे खड़े थे. वो बतौर सीनियर खिलाड़ी कितने अच्छे और टीम के लिए समर्पित हैं, यह इस बात का सबूत है.

दरअसल विराट कोहली की कप्तानी वाली टीम इंडिया को विनिंग ट्रॉफी दी जा रही थी. इस दौरान धोनी सबसे पीछे खड़े थे. वो ट्रॉफी लेने के लिए आगे नहीं आए और न ही जश्न में बहुत ही ज्यादा दिखे. यह धोनी की सबसे बड़ी खासियत है. वो जीत के बाद कभी भी उत्साहित नहीं दिखती हैं और न ही हार के बाद निराश होते हैं. उनका संयम ही सबसे बड़ा हथियार है. धोनी मैदान पर हमेशा एक महान खिलाड़ी के रूप में देखे गए हैं.

इंग्लैंड को 2-1 से हराने के बाद कोहली ने रोहित को नहीं बल्कि इस खिलाड़ी को दिया जीत का श्रेय

टीम इंडिया के जीत की बड़ी वजह हैं धोनी, जो उन्होंने किया वो T20I में कोई नहीं कर पाया

गौरतलब है कि धोनी ने इस मुकाबले में 5 कैच लपके, जो कि एक रिकॉर्ड है. उन्होंने जेसन रॉय, एलेक्स हेल्स, ईयान मोर्गन, जॉनी बेयरस्टो और लियाम प्लंकेट के कैच पकड़कर उन्हें पवेलियन भेजा. धोनी ने एक शानदार रन आउट भी किया.

देखें वीडियो :

रोहित ने हासिल किया ऐतिहासिक मुकाम, ऐसा करने वाले भारत के पहले बल्लेबाज

बता दें कि टीम इंडिया और इंग्लैंड के बीच खेले गए सीरीज के तीसरे टी-20 मैच में इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 9 विकेट खोकर 198 रन बनाए. इस दौरान जेसन रॉय ने 67 रन और जोस बटलर ने 34 रन की अहम पारी खेली. इसके बाद टीम इंडिया ने 18.4 ओवर में 3 विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया. भारत की ओर से दमदार प्रदर्शन करते हुए रोहित शर्मा ने नाबाद 100 रन बनाए. वहीं विराट कोहली ने 43 रन की अहम पारी खेली.