बंगाल की टीम के पूर्व कप्‍तान मनोज तिवारी (Manoj Tiwary) ने सोमवार को रणजी ट्रॉफी (Ranji Trophy 2019-20) मुकाबले में हैदराबाद के खिलाफ तिहरा शतक जड़ा. तिवारी के इस शानदार प्रदर्शन के दम पर ग्रुप ए के मैच के दूसरे दिन बंगाल की टीम ने 635/7 पर पारी घोषित की. तिवारी ने मैच में 414 गेंदों पर नाबाद 303 रनों की पारी खेली.  अपनी पारी में तिवारी ने 30 चौके और पांच छक्के लगाए. Also Read - Dhanashree Verma Photos: मालदीव में छुट्टियां Enjoy कर रहे Yuzvendra Chahal, समंदर किनारे चिल करते वायरल हुईं Dhanashree Verma की तस्वीरें...

पढ़ें:- न्यूजीलैंड दौरे से पहले टीम इंडिया को झटका, चोटिल हुए तेज गेंदबाज इशांत शर्मा Also Read - टीम इंडिया के सीनियर ऑलराउंडर Yusuf Pathan ने लिया संन्यास

मैच के बाद मनोज तिवारी (Manoj Tiwary) ने कहा कि भारतीय टीम में जगह बनाना अब काफी मुश्किल हो गया है. भारत के लिए 12 वनडे और तीन टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने वाले तिवारी ने भारत के लिए अपना आखिरी  वनडे मुकाबला साल 2015 में जिम्‍बाब्‍वे क के खिलाफ हरारे में खेला था. साल 2012 में वो आखिरी बार टी20 अंतरराष्‍ट्रीय में खेलते हुए नजर आए थे. Also Read - India vs England: अक्षर की तारीफ करते-करते ये गुजरात को लेकर क्या बोल गए विराट कोहली! क्यों आई रविंद्र जडेजा की याद

पत्रकारों से बातचीत के दौरान तिवारी (Manoj Tiwary) ने कहा, “इस दुनिया में कुछ भी संभव है. मेरा विश्वास हमेशा मजबूत रहता है चाहे मैं जीरो रन बनाऊं या फिर शतक लगाऊं. मैंने हमेशा अपनी क्षमता और कड़ी मेहनत पर विश्वास किया है.”

पढ़ें:- राहुल द्रविड़ की निगरानी में NCA में रीहैब शुरू करेंगे हार्दिक पांड्या; न्यूजीलैंड दौरे पर नजर

मनोज तिवारी (Manoj Tiwary) ने कहा, “इसके लिए मैं अपने निजी कोच मनबेंद्र घोष को धन्यवाद देना चाहता हूं. उन्होंने मुझे बेहतर बनने में मदद की है. अगर आपको खुद पर विश्वास हो तो आत्मविश्वास आ ही जाता है. पता नहीं आगे क्या होगा. इस समय भारतीय टीम शानदार प्रदर्शन कर रही है और इसमें जगह बनाना मुश्किल है.”