नई दिल्ली : हर्षल पटेल और मनजोत कालरा जैसे खिलाड़ियों की चोटों के बाद दिल्ली कैपिटल्स टीम के प्रबंधन ने गुरुवार को फैसला किया कि वह ईडन गार्डन्स स्टेडियम में ट्रायल का आयोजन करेगी. ऐसा प्रतीत हो रहा है कि बंगाल के कप्तान मनोज तिवारी इंडियन प्रीमियर लीग के 12वें संस्करण में दिल्ली कैपिटल्स के लिए खेल सकते हैं. दिल्ली के अधिकारी ने कहा कि ट्रायल्स का आयोजन किया गया था क्योंकि मुख्य कोच रिकि पोंटिंग और सलाहकार सौरभ गांगुली देखना चाहते हैं कि वह अंतिम फैसला लेने से पहले खिलाड़ियों को देखें.

अधिकारी ने कहा, “इसे ट्रायल कहना गलत होगा. खिलाड़ी नेट्स में कुछ गेंदें खेलें और बल्लेबाजी करें इसे ट्रायल्स नहीं कह सकते. हम एक हरफनमौला खिलाड़ी और बल्लेबाज की खोज में हैं. हमारे पास तकरीबन छह खिलाड़ी हैं.” उन्होंने कहा, “यह प्रबंधन को एक आइडिया देगा कि हमारे पास क्या उपलब्ध है. जो खिलाड़ी चुना जाएगा वह कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ खेले जाने वाले मैच का हिस्सा नहीं होगा.”

पोंटिंग की ऋषभ पंत को सलाह, जिम्मेदारी से खेलने की जरूरत

तिवारी के टीम में आने की संभावनाओं पर अधिकारी ने कहा, “उन्होंने कुछ अच्छा समय बिताया. प्रबंधन उनसे खुश दिखा. मैं इस समय सिर्फ इतना ही कह सकता हूं.” मनजोत कालर की चोट पर पोंटिंग ने कहा, “मनजोत को दाहिने हाथ में चोट लगी है. हमें उनका फिटनेस टेस्ट लेना होगा. इसलिए हमने इतने खिलाड़ी बुलाए हैं.”

वर्ल्ड कप से पहले टीम इंडिया के खिलाड़ी मुश्किल में, कुलदीप ने बताई परेशानी की वजह

तिवारी को जयपुर में हुई निलामी में किसी भी टीम ने नहीं खरीदा था. ऐसी स्थिति में वह लीग में कॉमेंट्री कर रहे थे. दिल्ली का यह सीजन अभी तक मिलाजुला रहा है. उसने अभी तक छह मैच खेले हैं और तीन में उसे हार तो तीन में जीत मिली है. वह आठ टीमों की अंकतालिका में छह अंकों के साथ छठे स्थान पर है.