नई दिल्ली. क्रिकेट का इतिहास कई किस्से कहानियों से पटा पड़ा है. इनमें कुछ दिल को सुकून देने वाले हैं तो कुछ रोंगटे खड़े कर देने वाले. हम जिस घटना का जिक्र करने जा रहे हैं वो 9 साल पहले आज ही की तारीख मेें हुआ था. इस घटना से कई बड़े क्रिकेटरों की जान हलक में आ गई थी तो क्रिकेट फैन्स हताश थे. दूसरे लहजे में कहें तो वो क्रिकेट इतिहास का सबसे काला दिन था. Also Read - पूर्व ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर का कहना- स्मिथ का बैन खत्म होने के बाद भी टिम पेन, एरोन फिंच ही बने रहें कप्तान

हम बात कर रहे हैं 3 मार्च 2009 में श्रीलंकाई टीम पर हुए बड़े हमले की. ये हमला पाकिस्तान में हुआ था. श्रीलंकाई टीम 3 वनडे और 2 टेस्ट खेलने के लिए पाकिस्तान के दौरे पर थी. श्रीलंका की टीम वनडे सीरीज 2-1 से अपने नाम कर चुकी थी और कराची में खेला टेस्ट सीरीज का पहला मैच भी ड्रॉ करा चुकी थी. आखिरी टेस्ट लाहौर में था और इसमें भी श्रीलंका ने अपना शिकंजा कस रखा था. टेस्ट मैच के तीसरे दिन जब सुबह तकरीबन 8:50 बजे श्रीलंकाई खिलाड़ी टीम बस में सवार होकर होटल से लाहौर के गद्दाफी स्टेडियम आ रहे थे. उसी वक्त वो हुआ जिसकी किसी ने कल्पना भी नहीं की थी. Also Read - विंडीज दिग्गज ने कहा, 'आंद्रे रसेल ही हैं हमारे ब्रायन लारा और क्रिस गेल'

पाकिस्तान के सुरक्षा तंत्र की धज्जियां उड़ाते हुए 12 बंदुकधारियों ने गद्दाफी स्टेडियम के करीब अचानक ही श्रीलंकाई टीम के बस पर अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी. इस बस में श्रीलंकाई क्रिकेटरों के अलावा अंपायर्स भी सवार थे. इस हमले में 5 श्रीलंकाई क्रिकेटरों माहेला जयवर्धने, कुमार संगकारा, अजंथा मेंडिस, समरवीरा और थरंगा परिवितरना को गंभीर इंजरी हुई थी. जबकि 6 पुलिसमैन के अलावा 2 पाकिस्तानी नागरिक मारे गए थे. Also Read - खत्म हुआ दो साल का बैन, फिर से ऑस्ट्रेलिया टीम के कप्तान बन सकेंगे स्टीव स्मिथ

Kane Williamson Fastest to 5000 ODI runs 119 oneday innings New Zealand | सबसे तेज 5 हजार वनडे रन बनाने वाले 5वें खिलाड़ी बने विलियमसन, डिविलियर्स को पीछे छोड़ा

Kane Williamson Fastest to 5000 ODI runs 119 oneday innings New Zealand | सबसे तेज 5 हजार वनडे रन बनाने वाले 5वें खिलाड़ी बने विलियमसन, डिविलियर्स को पीछे छोड़ा

ये क्रिकेट पर हुआ सबसे बड़ा आतंकवादी हमला है. वहीं 1972 के म्यूनिख ओलंपिक के बाद खेल और खिलाड़ियों पर हुआ दूसरा बड़ा आतंकवादी हमला. इस हमले के बाद दुनिया की टीमों ने पाकिस्तान में क्रिकेट खेलने से मना कर दिया.

आलम ये है कि पिछले 9 साल में पाकिस्तान में सिर्फ 9 इंटरनेशनल मैच अब तक खेले गए हैं. इनमें 3 वनडे और 6 T20 शामिल है. बड़ी बात ये है कि इन 9 टीमों मं से 5 मैच पाकिस्तान में जिम्बाब्वे ने खेले हैं, 3 वर्ल्ड इलेवन ने जबकि मैच श्रीलंका ने खेला है.