ब्रिसबेन. ब्रिसबेन में जेएलटी वनडे-कप के दूसरे मैच के दौरान एक खिलाड़ी को ऐसी सजा मिली जो अब तक किसी भी क्रिकेटर को नहीं मिली है. इस खिलाड़ी का नाम मार्नस लबशेयन है. इस खिलाड़ी पर आरोप लगा है कि उसने खेल के दौरान प्रतिद्वंद्वी टीम के खिलाड़ी को चकमा देने की कोशिश की.

गावस्कर की 'महानतम टीम' वाली तारीफ पर कोहली ने कहा, 'घरेलू सफलता को विदेशी धरती पर दोहराने की जरूरत'

गावस्कर की 'महानतम टीम' वाली तारीफ पर कोहली ने कहा, 'घरेलू सफलता को विदेशी धरती पर दोहराने की जरूरत'

ऑस्ट्रेलिया इलेवन और क्वींसलैंड के बीच हो रहे मैच के दौरान जब ऑस्ट्रेलिया टीम के बल्लेबाज ने एक शॉट खेला तो गेंद मार्नस लबशेयन के पास गई. गेंद को पकड़ने और रन रोकने की मार्नस लबशेयन कोशिश तो की लेकिन गेंद उनके हाथ से छुट गई. लेकिन गेंद हाथ में न होने के बाद भी मार्नस लबशेयन ने बल्लेबाज को डराते हुए गेंद फेकने का नाटक कर रहे थे.

वहीं सामने खड़े ऑस्ट्रेलियाई टीम के बल्लेबाज को यह पता चल गया कि मार्नस लबशेयन के पास गेंद नहीं है. तो उन्होंने तुरंत दौड़ के अपना रन पूरा कर लिया. लेकिन इस नौटंकी का खामियाजा मार्नस लबशेयन को चुकाना पड़ा. मैरीलिबोन क्रिकेट क्लब के नियम 41.5 के तहत दोषी उन्हें दोषी पाया गया. जिसके बाद उनकी टीम पर 5 रनों की जुर्माना लगाया गया.