हैमिल्टन में न्यूजीलैंड (New Zealand) के खिलाफ टीम इंडिया (Team India) की हार की सबसे बड़ी वजह थी- भारतीय गेंदबाजों, खासकर कि जसप्रीत बुमराह को सफलता ना मिलना। बुमराह ने न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले वनडे में 10 ओवर में 53 रन दिए लेकिन एक भी विकेट हासिल नहीं कर पाए। कीवी टीम के शीर्ष क्रम बल्लेबाज मार्टिन गप्टिल (Martin Guptill) को उम्मीद है कि उनकी टीम के खिलाड़ी दूसरे वनडे में भी भारतीय गेंदबाजों का इसी तरह से सामना करेंगे। Also Read - World Test Championship की तैयारी में जुटे Devon Conway, भारत के खिलाफ बना रहे ये रणनीति

ऑकलैंड वनडे से पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान गप्टिल ने कहा, “ये अलग परिस्थियां होंगी। आपको थोड़ा और आक्रामक होना होगा और विश्वास है कि गेंद किनारे से लगकर उतनी स्पिन नहीं होगी। हालांकि एक-आध गेंद हो सकती है जैसा कि पिछले मैच में हुआ।” Also Read - Virat Kohli-Anushka Sharma ने फैंस की मदद से जुटाए 11 करोड़ रुपये

उन्होंने कहा, “जिस तरह से हमने हैमिल्टन में भारतीय स्पिन गेंदबाजों को संभाला वो लंबे समय में हमारा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन था। इसलिए हम आगे बढ़ते हुए इससे आत्मविश्वास लेंगे।” Also Read - विराट कोहली के बराबर हैं केन विलियमसन लेकिन सोशल मीडिया लाइक्स के लिए भारतीय कप्तान को सर्वश्रेष्ठ कहते हैं लोग: वॉन

Dream11 Prediction, IND vs NZ: भारत से टी20 सीरीज की हार का बदला लेने उतरेगा न्यूजीलैंड

बुमराह का सामना करने के बारे में गप्टिल ने कहा, “पता नहीं कि उसका सामना करना कभी सहज हो पाएगा या नहीं लेकिन आपको इसकी आदत जरूर पड़ जाती है। उसका एक्शन अलग है, वो अपनी काबिलियत के साथ शानदार है। मुझे लगता है कि हमने पिछले मैच में उसे अच्छी तरह खेला। उसने नई गेंद के साथ अच्छी गेंदबाजी की और जब उसके खिलाफ बाउंड्री लगाने का समय आया तो मुझे लगता है कि मैदान पर मौजूद बल्लेबाजों ने अच्छा काम किया और उसे शुरुआत विकेट नहीं दिए।”

सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल करने के बाद भी गप्टिल जानते हैं कि भारत जैसे टीम को कमतर समझना बेवकूफी होगी। उन्होंने कहा, “मुझे नहीं लगता कि आप भारत को (सीरीज से) बाहर मान सकते हैं। वो विश्व स्तर की टीम हैं, उनके पास मैच जिताने वाले बल्लेबाज और गेंदबाज हैं। इसलिए हमें कल जीत हासिल कर सीरीज पर कब्जा करने के लिए अच्छा प्रदर्शन करना होगा।”