क्रिकेटर क्रिस गेल एक नए विवाद में फंसते दिख रहे हैं. 2015 के वर्ल्ड कप के दौरान वेस्टइंडीज टीम के ड्रेसिंग रूम में एक महिला मसाज थेरेपिस्ट के सामने कथित तौर पर अपना तौलिया खोलने के बाद गेल द्वारा इस खबर को कवर करने वाले मीडिया हाउसेज के खिलाफ मानहानि का मुकदमा किया गया है. बुधवार को मामले की कोर्ट में सुनवाई के दौरान इस महिला ने कहा कि गेल द्वारा ऐसा व्यवहार किए जाने के बाद वह बच्चे की तरह रोई थीं.

गेल ने पिछले साल जनवरी में ये खबरें प्रकाशित करने वाले फेयरफैक्स मीडिया न्यूजपेपर्स, द सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड, द एज और द कैनबरा टाइम्स के खिलाफ मानहानि का दावा ठोका है. गेल ने सोमवार को मामले की पहली सुनवाई में इन आरोपों को निराधार बताते हुए कहा कि मीडिया हाउस उनकी छवि को तहस-नहस कर देना चाहते हैं. उस घटना के वक्त वहां मौजूद रहे गेल के साथी खिलाड़ी ड्वेन स्मिथ ने भी ऐसा कुछ होने से इनकार किया है.

पिछले साल आई मीडिया रिपोट्स के मुताबिक 2015 के वर्ल्ड कप के दौरान वेस्टइंडीज टीम के साथ काम कर ही महिला मसाज थेरेपिस्ट मरायुसे लीने रसेल के सामने ड्रेसिंग रूम में गेल ने जानबूझकर अपना तौलिया खोल दिया था, उस समय गेल के शरीर पर तौलिए के अलावा कुछ भी नहीं था. इस रिपोर्ट्स के मुताबिक गेल ने ऐसा जानबूझकर किया था.

इस महिला ने मामले की सुनवाई के न्यू साउथ वेल्स सुप्रीम कोर्ट में कहा कि वह चेजिंग रूम में कुछ खोजने गई थी कि तभी सामने गेल आ गए. हेराल्ड की रिपोर्ट के मुताबिक, गेल ने उससे पूछा, ‘आप क्या खोज रही हैं?’ तो मैंने कहा, ‘तौलिया.’ इस पर गेल ने अपना तौलिया खींचा और खोल दिया. रसेल ने कहा, ‘मैंने क्रिस के प्राइवेट पार्ट का ऊपरी हिस्सा देखा और माफी मांगते हुए अपनी नजरें हटा लीं. मैंने ना कहा और वहां से चली गई.’ रसेल ने कहा कि मैंने इस घटना के बारे में तुरंत ही वेस्टइंडीज टीम के फिजियोथेरेपिस्ट को बताया और इसे लेकर मैं बहुत अपसेट थी. उन्होंने कहा, ‘मैं फूट-फूटकर रोई, मैं एक बच्चे की तरह रो पड़ी.’

मंगलवार को सुनवाई के दौरान ड्वेन स्थिम ने माना का उन्होंने गेल की घटना से एक दिन पहले उन्हें रसेल का मैसेज आने के बाद उन्होंने उसे ‘सेक्सी’ लिखकर मैसेज किया था.

हेराल्ड के मुताबिक रसेल ने कहा, ‘उन्हें ऐसे व्यवहार के बाद गहरा धक्का लगा था.’ और उन्होंने दूसरी महिलाओं के लिए ये आवाज उठाई. उन्होंने कहा, ‘ये हमेशा होता है लेकिन किसी में इसके खिलाफ आवाज उठाने की हिम्मत नहीं होती है, उन्हें आवाज उठानी चाहिए.’

फेयरफैक्स ने कहा कि वह अपने आटिकल्स का इस आधार पर बचाव कर रहा है कि ये वास्तविक हैं और सार्वजनिक हित में हैं. इस मीडिया हाउस ने पिछले साल जनवरी में बिग बैश लीग के एक मैच के दौरान एक महिला टीवी एंकर के साथ गेल द्वारा इंटरव्यू के दौरान ऑनएयर फ्लर्ट करने की खबरों को भी प्रमुखता से छापा था. गेल ने मैक्लेंघन नामक उस महिला एंकर से इंटरव्यू के दौरान कहा था, आपकी आंखें बहुत खूबसूरत हैं क्या हम मैच के बाद ड्रिंक के लिए चल सकते हैं. मैक्लेंघन द्वारा गेल के जवाब पर सॉरी कहने पर गेल ने कहा था, डोंट ब्लश बेबी (शर्माओ मत बेबी!)

इस मामले की सुनवाई अगले 10 दिनों तक जारी रहेगी.

(AFP इनपुट्स के साथ)