नई दिल्ली. दमदार फॉर्म में चल रहे कर्नाटक के बल्लेबाज मयंक अग्रवाल ने विजय हजारे ट्रॉफी के फाइनल में एक और बड़ा कमाल कर दिया है. इस बार वो अपने शतक से बेशक 10 रन से चूक गए लेकिन उन्होंने सचिन तेंदुलकर के रिकॉर्ड में सेंधमारी कर उसे तोड़ डाला है.

मयंक का ‘मैजिकल’ फॉर्म

सौराष्ट्र के खिलाफ कोटला पर खेले मुकाबले में मयंक ने 79 गेंदों पर 90 रन की धमाकेदार पारी खेली, जिसमें 3 छक्के और 11 चौके शामिल रहे. 90 रन की इस नायाब पारी के बाद कर्नाटक के इस बल्लेबाज के नाम इस टूर्नामेंट में 723 रन हो गए, जो लिस्ट ए क्रिकेट के सीरीज या टूर्नामेंट में किसी भी भारतीय बल्लेबाज का रिकॉर्ड है.

सचिन का रिकॉर्ड तोड़ा

इससे पहले लिस्ट-ए क्रिकेट की सीरीज या टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड सचिन तेंदुलकर के नाम था, उन्होंने 2003 वर्ल्ड कप के दौरान 673 रन बनाए थे. बता दे कि लिस्ट ए क्रिकेट में घरेलू वनडे के अलावा इंटरनेशनल वनडे मैच भी शामिल होते हैं.

घरेलू सीजन के पहले दो हजारी

मयंक घेरलू सीजन में 2000 प्लस रन बनाने वाले पहले भारतीय क्रिकेटर भी हैं. मयंक ने इस सीजन रणजी ट्रॉफी की 13 पारियों में 1160 रन बनाए जिसमें 5 शतक और 2 अर्धशतक शामिल रहे. वहीं सैय्यद मुश्ताक अली टूर्नामेंट की 9 पारियों में मयंक ने 258 रन बनाए जबकि विजय हजारे के 8 पारियों में उनके 723 रन हैं. विजय हजारे में मयंक ने ये रन 90.37 की औसत से बनाए हैं जिसमें 3 शतक शामिल हैं.

दमदार खेल के बावजूद भी सलेक्शन से दूर

India and Bangladesh in Sri Lanka T20I Tri Series live coverage D sports | भारत, श्रीलंका और बांग्लादेश के बीच टी-20 त्रिकोणीय सीरीज, जानें कब और कहां देख पायेंगे मैच

India and Bangladesh in Sri Lanka T20I Tri Series live coverage D sports | भारत, श्रीलंका और बांग्लादेश के बीच टी-20 त्रिकोणीय सीरीज, जानें कब और कहां देख पायेंगे मैच

लेकिन इतने दमदार प्रदर्शन के बावजूद कर्नाटक के बल्लेबाज मयंक अग्रवाल को टीम इंडिया में जगह नहीं मिल पा रही. श्रीलंका में होने वाली ट्राएंगुलर T20 सीरीज के लिए चुनी गई टीम इंडिया में जहां कई नए खिलाड़ियों को मौका मिला वहीं 27 साल के इस होनहार बल्लेबाज को भारतीय सलेक्टर्स ने नजरअंदाज कर दिया.

कहते हैं काबिल बनो सफलता कदम चूम लेगी. घरेलू मुकाबलों में मयंक अग्रवाल अपनी काबिलियत की बार-बार नुमाइश कर रहे हैं. अपनी काबिलियत के दम पर वो नए-नए रिकॉर्ड्स का ताना-बाना बुन रहे हैं. लेकिन, इसके बावजूद उन्हें वो सफलता हासिल नहीं हो रही, जिसके वो हकदार हैं.