नई दिल्ली : टीम इंडिया के प्रतिभाशाली खिलाड़ी मयंक अग्रवाल ने पिछले ऑस्ट्रेलिया दौरे पर टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण किया. इस सीरीज में उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया. मयंक को भारतीय टीम में लम्बे वक्त के इंतजार के बाद जगह मिली. लेकिन उन्होंने टीम में शामिल होते ही खुद को बेहतर साबित कर दिया. मयंक को शानदार प्रदर्शन करने का एक बड़ा फायदा हुआ है. उनके साथ टायर निर्माता कंपरी सीएट लिमिटेड ने करार किया है. अहम बात यह है कि मयंक ऑस्ट्रेलिया दौरे पर बिना स्टीकर वाले बल्ले से खेले थे.

सीएट से जुड़ने के बाद मयंक अब क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में सीएट के लोगो वाले बल्ले के साथ खेलते नजर आएंगे. मयंक से पहले रोहित शर्मा, अजिंक्य रहाणे, इशान किशन, शुभमन गिल और महिला क्रिकेट टीम की टी-20 कप्तान हरमनप्रीत कौर भी सीएट से जुड़ चके हैं.

World Cup 2019: टीम इंडिया के ‘पेस अटैक’ में ये 3 खिलाड़ी, चौथे बॉलर के लिए इनके बीच जंग

वर्ष 2010 में अंडर-19 विश्व कप में भारत के लिए सर्वोच्च स्कोरर रहे मयंक ने 2017-18 रणजी सीजन में शानदार प्रदर्शन किया था. उन्होंने पूरे सत्र में 1000 से अधिक रन बनाए थे. मयंक ने हाल में ऑस्ट्रेलिया दौरे पर टेस्ट में पदार्पण किया. उन्होंने अपने पदार्पण मैच की पहली पारी में 76 रन बनाए थे, जोकि ऑस्ट्रेलिया में किसी भी भारतीय क्रिकेट का पदार्पण में सर्वोच्च स्कोर है.

मयंक ने सीएट से जुड़ने पर कहा, “सीएट के साथ जुड़ने पर मुझे गर्व है. मैदान के अंदर और बाहर, एक ब्रांड के रूप में इसका प्रतिनिधित्व करना मेरे लिए सम्मान की बात है. सीएट में प्रतिभाशाली और सफल क्रिकेटरों के ग्रुप में शामिल होने के लिए यह मुझे गौरवान्वित कराता है और मेरी जिम्मदारियों का अहसास दिलाता है.”

ऑस्ट्रेलिया की पूरी पलटन को अकेले संभालेंगे सहवाग, रिषभ पंत बोले- छा गए पाजी

सीएट के प्रबंध संचालक अनंत गोयनका ने कहा, “सीएट ब्रांड का प्रतिनिधित्व करने के लिए एक बेहद प्रतिभाशाली क्रिकेटर मयंक अग्रवाल के साथ जुड़ने से हम बेहद खुश हैं. हमारा मानना है कि मयंक में भारतीय क्रिकेट में एक बड़ा खिलाड़ी बनने के सभी गुण है. हम उन्हें अपनी शुभकामनाएं देते हैं और सीएट परिवार में उनका स्वागत करते हैं.”