पूर्व जूनियर वर्ल्ड चैंपियन भारत की महिला मुक्केबाज निकहत जरीन ने कुछ दिन पहले भारतीय बॉक्सिंग फेडरेशन (BFI) से 6 बार वर्ल्ड चैंपियन एमसी मैरीकॉम के खिलाफ ट्रायल की मांग कर खूब हंगामा किया था. उन्होंने ओलंपिक क्वालीफायर के लिए सेलेक्शन कमेटी पर बीएफआई को आड़े हाथों लिया था.Also Read - 'लॉकडाउन की वजह से लय टूट गई' ; ओलंपिक में भारतीय मुक्केबाजों के निराशाजनक प्रदर्शन पर BFI अध्यक्ष का बयान

तेंदुलकर को आउट कर धोनी की टीम को चैंपियन बनाने वाले इस गेंदबाज ने क्रिकेट को कहा अलविदा Also Read - Tokyo Olympics 2020: मुक्केबाजी के क्वार्टर फाइनल में पहुंची लवलीना बोरगोहेन; पदक से एक कदम दूर

निकहत के इस हंगाने पर मैरीकॉम ने कहा था कि वह बीएफआई की नीति का पालन करेंगी जिसने अंत में ट्रायल्स कराने का फैसला किया था. Also Read - एक घंटा हवा में चक्कर काटता रहा भारतीय मुक्केबाजी टीम को ले जा रहा विमान, मैरी कॉम सहित बैठे थे कई स्टार खिलाड़ी

दोनों मुक्केबाजों के बीच शनिवार को नई दिल्ली के इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम में आयोजित की गई ट्रायल्स में ‘सुपर मॉम’ के नाम से विख्यात मैरीकॉम (51 किग्रा) ने निकहत को 9-1 से पराजित कर अगले साल चीन के वुहान में आयोजित होने वाले ओलंपिक क्वालीफायर के लिए भारतीय टीम में जगह बनाई.


Year Ender 2019: बल्लेबाजों को पवेलियन लौटाने के मामले में बुमराह रहे फिसड्डी, कहर बनकर टूटा ये बॉलर

‘बोलने से पहले प्रदर्शन करो’

‘मैं सिर्फ इतना ही कहना चाहूंगी कि बोलने से पहले प्रदर्शन करो, इससे पहले नहीं. आप रिंग में जो करते हो, उसे हर कोई देखता है.’ निकहत शुक्रवार ज्योति गुलिया 10-0 से जबकि मैरीकॉम ने रितु ग्रेवाल इतने ही अंतर से मात देकर एक-दूसरे के खिलाफ भिड़ंत तय की थी.