बांग्लादेश क्रिकेट टीम के अनुभवी ऑलराउंडर शाकिब अल हसन (Shakib Al Hasan) खेल के नियम बनाने वाली मेरिलबोन क्रिकेट क्लब (MCC) की विश्व क्रिकेट समिति से हट गए हैं.

एमसीसी की विज्ञप्ति के अनुसार, ‘मेरिलबोन क्रिकेट क्लब आज इस बात की पुष्टि करता है कि शाकिब अल हसन एमसीसी विश्व क्रिकेट समिति से हट गए हैं. ’

शाकिब पर मंगलवार को आईसीसी (ICC) ने दो साल का प्रतिबंध लगाया था.  इस खिलाड़ी ने आईसीसी भ्रष्टाचार रोधी संहिता के उल्लघंन के आरोपों को स्वीकार कर लिया है जिससे वह इस सजा के खिलाफ अपील नहीं कर सकते.

Syed Mushtaq Ali T20 Trophy : तमिलनाडु ने दिनेश कार्तिक को बनाया कप्तान

शाकिब अक्टूबर 2017 में एमसीसी विश्व क्रिकेट समिति से जुड़े थे और उन्होंने सिडनी और बेंगलुरू में दोनों जगह बैठकों में शिरकत की थी.

एमसीसी विश्व क्रिकेट समिति में दुनिया के मौजूदा और पूर्व अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर और अंपायर शामिल होते हैं जो एक साल में दो बार मिलकर खेल की मौजूदा स्थिति पर चर्चा करते हैं.

इंग्लैंड में मॉडल से प्यार, ढाका में निकाह, पत्नी को छेड़ा तो की पिटाई… ऐसी है क्रिकेटर शाकिब की पर्सनल लाइफ

अगली बैठक मार्च 2020 में श्रीलंका में होनी है.

विश्व क्रिकेट समिति के चेयरमैन माइक गेटिंग ने कहा, ‘हमें दुख है कि समिति में शाकिब नहीं होंगे जिसमें उन्होंने पिछले दो वर्षों में काफी योगदान किया है.  क्रिकेट भावना के सरंक्षक होने के नाते हम उनके इस्तीफे का समर्थन करते हैं और मानते हैं कि यह सही फैसला था.’

(इनपुट-भाषा)