नई दिल्ली : टीम इंडिया के खिलाफ ऑकलैंड में खेले गए टी-20 मैच में न्यूजीलैंड को हार का सामना करना पड़ा. इसमें टीम के खिलाड़ी स्कॉट कुग्गेलैन के लिए एक शर्मनाक नजारा देखने को मिला. ईडन पार्क मैदान पर मैच देखने पहुंचे किवी दर्शकों ने कुग्गलैन के खिलाफ पोस्टर दिखाए. किवी दर्शक कुग्गलैन को टीम में शामिल करने का विरोध कर रहे हैं. एक दर्शक #MeToo से जुड़ा पोस्टर लाया था, जिस पर लिखा कि जागो न्यूजीलैंड क्रिकेट, #MeToo.

दरअसल न्यूजीलैंड के खिलाड़ी कुग्गलैन पर एक महिला ने साल 2015 में रेप का आरोप लगाया था. हालांकि इसके बाद 2017 में किवी खिलाड़ी को निर्दोष करार दे दिया गया था. लेकिन अहम बात यह थी कि सबूत कुग्गलैन के खिलाफ थे. इसलिए न्यूजीलैंड के दर्शक कुग्गलैन को टीम में शामिल करने का विरोध कर रहे हैं. दर्शकों ने ऑकलैंड से पहले वेलिंग्टन में भी इसका विरोध किया था. दर्शक ”नो मीन्स नो” का पोस्टर लेकर आए थे. ऑकलैंड टी-20 मैच के दौरान कुग्गलैन के विरोध में कई पोस्टर देखने को मिले.

IPL 2019 के दौरान महिलाएं खेलेंगी टी-20 मैच

भारतीय गेंदबाजों ने ऑकलैंड में दिखाई चालाकी, रन रोकने के लिए लगाई ये तरकीब

गौरतलब है कि यह मामला साल 2015 का है. जब कुग्गलैन पर महिला ने दुष्कर्म का आरोप लगाया था. इसके बाद 2017 में उन्हें दोष मुक्त कर दिया गया. लेकिन दर्शकों को यह बात अच्छी नहीं लगी. इसलिए उन्होंने वेलिंग्टन में ‘नो मिन्स नो’ और ऑकलैंड में ‘वेक अप न्यूजीलैंड’ के पोस्टर दिखाए. इस मामले पर कुग्गलैन ने एक न्यूज वेबसाइट को बयान भी दिया है.