आम तौर पर विकेटकीपर बल्लेबाज की भूमिका निभाने वाले टॉम ब्लंडेल को न्यूजीलैंड टीम में सलामी बल्लेबाज जीत रावल को बाहर किए जाने के बाद ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मेलबर्न टेस्ट में पारी का आगाज करने का मौका मिला. ब्लंडेल ने इस मौके को दोनों हाथों से लपका.

पेसर भुवनेश्वर कुमार ने प्रतिस्पर्धी क्रिकेट में वापसी को लेकर दी अहम जानकारी

भले ही कीवी टीम को बॉक्सिंग डे टेस्ट में 247 रन से हार झेलने पर मजबूर होना पड़ा हो लेकिन न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने कहा कि अगर उनकी टीम को दूसरे टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया से मिली करारी शिकस्त से वापसी करनी है तो उसे शतक जड़ने वाले टॉम ब्लंडेल जैसा जुझारू जज्बा अपनाना होगा.

ब्लंडेल मेलबर्न में आउट होने वाले अंतिम खिलाड़ी रहे, वह 121 रन बनाकर क्रीज पर टिके रहे जबकि न्यूजीलैंड के अन्य साथी खिलाड़ियों ने 488 रन के असंभव लक्ष्य का पीछा करते हुए अपने विकेट आसानी से गंवा दिए.

विलियमसन ने उनकी इस पारी को ‘अद्भुत’ करार दिया. चार दिन के अंदर दूसरा टेस्ट 247 रन से गंवाने के बाद विलियमसन ने कहा, ‘निश्चित रूप से ब्लंडेल ने अपनी पारी के लिए कड़ी मेहनत की, मुश्किल काम था. लेकिन आपको इसी तरह की सकारात्मक चीजें देखनी होंगी क्योंकि यह सचमुच शानदार पारी थी.’

IPL नीलामी में ना चुने जाने से निराश नहीं हैं हनुमा विहारी; न्यूजीलैंड दौरे की तैयारी

विलियमसन ने कहा, ‘उसने नेतृत्व किया और यह अहम है कि हम सभी उसकी पारी से प्रेरित हों.’ तीन मैचों की सीरीज में ऑस्ट्रेलिया की टीम 2-0 से आगे हो गई है. सीरीज का तीसरा और अंतिम टेस्ट मैच 3 जनवरी से सिडनी में खेला जाएगा.