ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम (Australia Cricket Team) के स्टार ऑलराउंडर ग्लेन मैक्सवेल (Glenn Maxwell) और निक मैडिनसन (Nick Maddinson) के खेल से ब्रेक लेने के दो हफ्ते बाद विक्टोरिया के युवा बल्लेबाज विल पुकोवस्की (Will Puvoski) टीम मैनेजमेंट को मानसिक स्वास्थ्य की समस्या की रिपोर्ट करने वाले तीसरे ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर बन गए हैं.Also Read - IND vs SA: दो खेमों में बंट चुकी है भारतीय टीम, दानिश कानेरिया बोले- विराट खेमा नहीं कर रहा बात

Also Read - SA vs IND, 2nd ODI: वनडे फॉर्मेट में पहली बार स्पिनर के सामने 'शर्मसार' हुए Virat Kohli, नहीं खोल सके खाता

टेस्ट सीरीज में पाकिस्तानी बल्लेबाजी क्रम को तहस-नहस करने को तैयार ये ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज Also Read - विराट 14 में से नौ ODI में अर्धशतक जड़ चुका है, इससे ज्‍यादा आप उससे क्‍या चाहते हो: सलमान बट

पुकोवस्की ने मानसिक स्वास्थ्य मुद्दे का हवाला देते हुए पाकिस्तान के खिलाफ पहले टेस्ट से हटने का फैसला किया है.

उधर, पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान इयान चैपल (Ian Chappell) ने का कहना है कि मानसिक समस्याओं के कारण सक्रिय खिलाड़ियों का ब्रेक लेना उनके देश में लगभग ‘महामारी’ बनता जा रहा है और उन्होंने क्रिकेट बोर्ड से तुंरत इस पर ध्यान देने का अनुरोध किया.

चैपल ने स्थानीय रेडियो स्टेशन ‘3 एडब्ल्यू’ से कहा, ‘यह पेचीदा समस्या है. यह लगभग महामारी बन गई है.’

बांग्लादेशी बल्लेबाजों पर कहर बनकर टूटे भारतीय गेंदबाज, टीम इंडिया के पास बड़े स्कोर का मौका

उन्होंने कहा, ‘यह कहना सही है कि इन खिलाड़ियों के बारे में कहना साहसिक है, हां यह साहसिक है. लेकिन क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को इसकी जड़ तक पहुंचना होगा कि ऐसा क्यों हो रहा है.’

गौरतलब है कि हाल में भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने बांग्लादेश के खिलाफ टी-20 सीरीज से खुद को अलग कर लिया था. कोहली से भी एक दिन पहले जब पत्रकारों ने इस बारे में पूछा तो उन्होंने 2014 के इंग्लैंड दौरे को याद करते हुए कहा कि उस समय उन्हें समय नहीं आ रहा था कि वह क्या करें जब उनके बल्ले से रन नहीं बन रहे थे.