बॉल टैंपरिंग मामले के बाद स्टीव स्मिथ (Steve Smith) पर लगा ऑस्ट्रेलिया की कप्तानी ना करने का बैन अब खत्म होने को आया है, जिसके बाद उम्मीद की जा रहा है कि स्मिथ ऑस्ट्रेलिया (Australia) टीम में एक बार फिर लीडरशिप की भूमिका में नजर आएंगे। हालांकि पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क (Michael Clarke) ऐसा नहीं चाहते। Also Read - Complete Lockdown in Uttarakhand: उत्तराखंड में एक सप्ताह के लिए लगाया गया पूर्ण लॉकडाउन, सख्त पाबंदियों के साथ गाइडलाइन जारी

ऑस्ट्रेलिया को विश्व कप जिता चुके क्लार्क चाहते हैं कि शानदार फॉर्म में चल रहे तेज गेंदबाज पैट कमिंस (Pat Cummins) को तीनों फॉर्मेट में ऑस्ट्रेलियाई टीम का कप्तान बना दिया जाय। उन्होंने कहा कि 2020-21 सीजन खत्म होने के साथ टेस्ट कप्तान टिम पेन (Tim Paine) का समय भी खत्म हो जाएगा। वहीं आगामी टी20 विश्व कप के बाद एरोन फिंच (Aaron Finch) के भी सीमित ओवर फॉर्मेट की कप्तानी से हटने का समय आ जाएगा। Also Read - 'कोरोना वायरस को जैविक हथियार बनाकर युद्ध लड़ना चाहता था चीन, 2015 में किया था टेस्ट'

बिग स्पोर्ट्स ब्रेकफॉस्ट से बातचीत में क्लार्क ने कहा, “टिम पेन ने शानदार काम किया, और इस बात में कोई शक नहीं है और मुझे लगता है कि उसने रिटायरमेंट लेने तक ऑस्ट्रेलिया की कप्तानी करने का अधिकार कमाया है। टिम 34 या 35 साल का है और मैं समझता हूं कि वो इस सीजन के बाद इस (संन्यास लेने) बारे में सोचेगा। मैं कल्पना कर सकता हूं कि अगर ऑस्ट्रेलिया वहां (भारत के खिलाफ घरेलू सीरीज) जीत सकती है तो ये उसके लिए शीर्ष से विदा लेने का सही समय होगा।” Also Read - कोरोना टीके पर जीएसटी हटाने से इनकार, वित्त मंत्री बोलीं- ऐसा करने से महंगी होगी दवा

चेन्नई में रैना ने किया धोनी का स्वागत; भावुक हुए फैंस ने कहा….

क्लार्क सभी फॉर्मेट्स में एक कप्तान की विचारधारा का समर्थन करते हैं और वो कमिंस को इस भूमिका में देखना चाहते हैं। उन्होंने कहा, “वो खेल को अच्छे से पढ़ता है। हां, वो एक शुरुआती गेंदबाजी है जो बल्लेबाजी भी कर सकता है। वो फील्ड में शानदार है। वो खेल को उस तरह से देखता है जैसे एक कप्तान को देखना चाहिए।”

उन्होंने आगे कहा, “एक गेंदबाज के कप्तान बनने के बारे में काफी चर्चा होती हैं, और आमतौर पर ऐसा इसलिए क्योंकि गेंदबाज चोटिल हो जाते हैं। पैट ने दिखाया है कि वो फिट है, वो स्वस्थ हैं, वो तीनों फॉर्मेट खेल सकता है। उसका शरीर फिलहाल उस हालत में जहां वो उतनी देर तक पिच पर रह सकता है जितना कि कोई बल्लेबाज।”