वेस्टइंडीज के पूर्व तेज गेंदबाज माइकल होल्डिंग (Michael Holding) ने इंग्लैंड के जोफ्रा आर्चर (Jofra Archar) को बायो सिक्योर प्रोटोकॉल तोड़ने के कारण आड़े हाथों लिया है। इसी कारण आर्चर को मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रेफर्ड में विंडीज के खिलाफ खेले जा रहे दूसरे टेस्ट मैच में अंतिम-11 से बाहर कर दिया गया। Also Read - England vs Pakistan 1st Test: शान मसूद ने खेली करियर बेस्ट पारी, पाकिस्तान ने पहली पारी में बनाए 326 रन

होल्डिंग ने नेल्सन मंडेला का उदाहरण देते हुए आर्चर को लपेटे में लिया और कहा कि बड़े काम के लिए बलिदान देना होता है। स्काई स्पोटर्स से बात करते हुए होल्डिंग ने कहा, “मुझे बिल्कुल भी साहनुभूति नहीं है। मैं समझ नहीं पाता की लोग वो क्यों नहीं करते जो जरूरी है। बलिदान की बात करें तो, नेल्सन मंडेला ने 27 साल एक छोटी से जेल में काटे थे और उन्होंने तो कुछ गलत किया भी नहीं था— यह बलिदान होता है।” Also Read - England vs Pakistan 1st Test : पाकिस्तान की आधी टीम पवेलियन लौटी, लंच तक स्कोर 187/5

होल्डिंग ने इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ECB) द्वारा बनाए गए प्रोटोकॉल पर भी सवाल उठाए हैं और कहा है कि यह और ज्यादा बेहतर होने चाहिए थे। ऐसी खबरें हैं कि बाकी खिलाड़ी साउथम्पटन से मैनचेस्टर पहुंचे लेकिन आर्चर अपने घर ससेक्स के लिए रवाना हो गए। Also Read - ENG vs PAK, 1st Test: खाता भी नहीं खोल पाए कप्‍तान अजहर अली, लंच तक पाकिस्‍तान 53/2

होल्डिंग ने कहा, “मैं ईसीबी से कुछ सवाल पूछना चाहता हूं। यह जो प्रोटोकॉल है, मैं समझता हूं कि होने चाहिए लेकिन वो और तर्कसंगत होने चाहिए थे।”

“इंग्लैंड टीम बस में सफर क्यों नहीं कर रही? अगर उन्होंने पहले से ही सभी कोविड-19 टेस्ट पास कर लिए हैं और हर कोई साथ में है तो, उन्हें छह मैच और खेलने हैं और वह एक जगह से दूसरी जगह जा रही है, वो क्यों सभी एक बस में नहीं आ जाते।”

उन्होंने कहा, “उन्हें कार में सफर करने की मंजूरी क्यों दी गई? लोगों को थोड़ा सोचने की जरूरत है।” इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल एथरटन भी आर्चर के रवैये से निराश हैं।