वेस्टइंडीज के पूर्व तेज गेंदबाज माइकल होल्डिंग (Michael Holding) ने इंग्लैंड के जोफ्रा आर्चर (Jofra Archar) को बायो सिक्योर प्रोटोकॉल तोड़ने के कारण आड़े हाथों लिया है। इसी कारण आर्चर को मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रेफर्ड में विंडीज के खिलाफ खेले जा रहे दूसरे टेस्ट मैच में अंतिम-11 से बाहर कर दिया गया।Also Read - राजस्थान रॉयल्स के लिए अच्छा निवेश हो सकते हैं युवा यशस्वी जायसवाल: इरफान पठान

होल्डिंग ने नेल्सन मंडेला का उदाहरण देते हुए आर्चर को लपेटे में लिया और कहा कि बड़े काम के लिए बलिदान देना होता है। स्काई स्पोटर्स से बात करते हुए होल्डिंग ने कहा, “मुझे बिल्कुल भी साहनुभूति नहीं है। मैं समझ नहीं पाता की लोग वो क्यों नहीं करते जो जरूरी है। बलिदान की बात करें तो, नेल्सन मंडेला ने 27 साल एक छोटी से जेल में काटे थे और उन्होंने तो कुछ गलत किया भी नहीं था— यह बलिदान होता है।” Also Read - T20 World Cup 2021, ENG vs WI: T20 WC में वेस्टइंडीज का शर्मनाक रिकॉर्ड, 'डिफेंडिंग चैंपियन' का बना मजाक

होल्डिंग ने इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ECB) द्वारा बनाए गए प्रोटोकॉल पर भी सवाल उठाए हैं और कहा है कि यह और ज्यादा बेहतर होने चाहिए थे। ऐसी खबरें हैं कि बाकी खिलाड़ी साउथम्पटन से मैनचेस्टर पहुंचे लेकिन आर्चर अपने घर ससेक्स के लिए रवाना हो गए। Also Read - T20 World Cup 2021, ENG vs WI: इंग्लैंड ने रच दिया इतिहास, टी20 विश्व कप में पहली बार हुआ ऐसा

होल्डिंग ने कहा, “मैं ईसीबी से कुछ सवाल पूछना चाहता हूं। यह जो प्रोटोकॉल है, मैं समझता हूं कि होने चाहिए लेकिन वो और तर्कसंगत होने चाहिए थे।”

“इंग्लैंड टीम बस में सफर क्यों नहीं कर रही? अगर उन्होंने पहले से ही सभी कोविड-19 टेस्ट पास कर लिए हैं और हर कोई साथ में है तो, उन्हें छह मैच और खेलने हैं और वह एक जगह से दूसरी जगह जा रही है, वो क्यों सभी एक बस में नहीं आ जाते।”

उन्होंने कहा, “उन्हें कार में सफर करने की मंजूरी क्यों दी गई? लोगों को थोड़ा सोचने की जरूरत है।” इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल एथरटन भी आर्चर के रवैये से निराश हैं।