नई दिल्ली : पाकिस्तान क्रिकेट टीम के मुख्य कोच मिकी ऑर्थर ने कहा है कि विश्व कप के लिए टीम का चयन पाकिस्तान सुपर लीग (पीएसएल) के प्रदर्शन के आधार पर किया जाएगा. एक वेबसाइट की रिपोर्ट के मुताबिक, इस वर्ष इंग्लैंड में होने वाले विश्व कप को शुरू होने में अब केवल चार महीने का ही समय बचा है. पाकिस्तान को विश्व कप से पहले 10 वनडे मैच खेलने हैं. ऑर्थर का कहना है कि विश्व कप के लिए 15 सदस्यीय टीम का चयन करने से पहले चयनकर्ता और टीम प्रबंधन आगामी पीएसएल और आस्ट्रेलिया के खिलाफ होने वाली वनडे सीरीज में खिलाड़ियों के प्रदर्शन पर ध्यान रखेंगे. इनहीं प्रदर्शन के आधार पर विश्व कप के लिए टीम की घोषणा की जाएगी.

ऑर्थर ने दक्षिण अफ्रीका दौरे से वापस लौटने के बाद यह बात कही है. दक्षिण अफ्रीका दौरे पर पाकिस्तान को टेस्ट सीरीज में 0-3 से, वनडे में 2-3 से और टी-20 में 1-2 से हार का सामना करना पड़ा है. आर्थर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, “इंजी (चयनकर्ता प्रमुख इंजमाम उल हक) और मैं लंबे समय से इस बात को लेकर सहमत हैं. ईमानदारी से कहूं तो मैंने उसी रात को ड्रेसिंग रूम में लड़कों को इस बारे में बता दिया था.”

INDvsNZ: हैमिल्टन में जीत मिली तो टीम इंडिया रचेगी इतिहास

ऑर्थर ने कहा, “मुझे लगता है कि 15 स्थानों के लिए हमें शायद 19 खिलाड़ी मिल गए हैं. पीएसएल से में हमेशा एक या दो अच्छे निकलकर सामने आते हैं, इसलिए हम कुछ उन खिलाड़ियों पर भी ध्यान देने वाले हैं, जिन्हें लेकर हम आश्वस्त नहीं हैं. हमें आस्ट्रेलिया सीरीज पर भी ध्यान रखना होगा और फिर हम इंग्लैंड के लिए जाएंगे. ”

ऑर्थर ने साथ ही नियमित कप्तान सरफराज अहमद की कप्तानी को लेकर स्पष्ट किया कि वह ही विश्व कप में भी टीम की कमान संभालेंगे. उन्होंने कहा कि सरफराज पर लगे चार मैचों के प्रतिबंध के बाद अब हमें इस बात को पीछे छोड़कर आगे बढ़ना होगा. उन्होंने कहा कि सरफराज की कप्तानी को बरकरार रखने का फैसला उन्हें विश्वास में लेकर किया गया है.

क्रुणाल के प्रदर्शन से खुश हुए हार्दिक, कहा- गर्व है बड़े भाई

दक्षिण अफ्रीका में सीरीज के दूसरे वनडे के दौरान सरफराज ने मेजबान बल्लेबाज एंडिले फेहलुकवायो पर रंगभेदी टिप्पणी की थी, जिसके बाद अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने उन्हें चार मैचों के लिए निलंबित कर दिया था. कोच ने कहा, “सरफराज को विश्व कप तक कप्तान नियुक्त करने से पहले पीसीबी के चेयरमेन एहसान मनि और इंजमाम ने मुझसे बात की थी. हमने यह फैसला इसलिए किया क्योंकि हम सरफराज के साथ ही टीम को आगे बढ़ते हुए देखना चाहते हैं.”