मुंबईः भारत के पूर्व दिग्गज एथलीट मिल्खा सिंह ने शुक्रवार को कहा कि उन्हें कोई ऐसा भारतीय एथलीट नजर नहीं आता जो भविष्य में ओलंपिक में एथलेटिक्स में पदक जीत सके. ‘फ्लाइंग सिख’ के नाम से मशहूर 92 वर्षीय मिल्खा ने कहा, ‘‘अभी तक तो मुझे कोई आदमी ऐसा नजर नहीं आता जो आने वाले ओलंपिक खेलों में एथलेटिक्स में पदक जीत पाए.’’

टेनिस दिग्गज लिएंडर पेस ने की सुमित नागल की तारीफ, कहा- असली चुनौती होगी अपने प्रदर्शन को बरकरार रखना

वह भारतीय खेल सम्मान समारोह 2019 के इतर पत्रकारों से बात कर रहे थे. उन्होंने कहा, ‘‘आप ओलंपिक की बात कर रहे हैं, लेकिन मैं आपसे एथलेटिक्स के बारे में बात करूंगा. मैं, गुरबचन सिंह रंधावा, पी टी ऊषा, अंजू बाबी जार्ज और श्रीराम सिंह फाइनल (ओलंपिक में) पहुंचे थे लेकिन पदक नहीं जीत पाये.’’ उन्होंनें कहा कि ऐसा नहीं कि उनमें काबीलियत नहीं थी, लेकिन सच्चाई यही है कि ओलंपिक में पदक जीतना इतना आसान नहीं है.

वर्ल्‍ड कप में नंबर-4 पर खेलने के लिए रिषभ के पास पर्याप्‍त अनुभव नहीं था: युवराज सिंह

मिल्खा ने कहा, ‘‘अगर हमें ओलंपिक में पदक जीतना है तो हमें एथलीटों को एक स्थान पर रखकर उन्हें तैयार करना होगा. तभी हम ओलंपिक में पदक जीत सकते हैं. ’’ इस बीच जिम्नास्ट दीपा कर्माकर ने कहा कि उनकी फिटनेस अच्छी है. उन्होंने कहा कि किसी भी लक्ष्य के लिए आपको एकाग्रता की जरूरत होती है और खेल में भी इसका अहम योगदान है. अंजिक्य रहाणे, स्मृति मंधाना, जहीर खान और युवराज सिंह सहित वर्तमान और पूर्व क्रिकेटरों, मुख्य बैडमिंटन कोच पी गोपीचंद आदि विराट कोहली और आरपी एसजी द्वारा शुरू किये गये इस सम्मान समारोह में उपस्थित थे.