पाकिस्तान क्रिकेट टीम के मुख्य कोच मिस्बाह उल हक ने कहा है कि श्रीलंका की दूसरे दर्जे की टीम के हाथों टी-20 सीरीज में 0-3 से मिली हार ने उनकी आंखें खोलकर साबित कर दिया है कि देश की क्रिकेट व्यवस्था में कुछ गड़बड़ है.

मयंक अग्रवाल ने लगातार दूसरा शतक जड़ा, सोशल मीडिया पर लगा बधाइयों का तांता

मुख्य कोच और मुख्य चयनकर्ता दोनों पदों पर काबिज मिस्बाह ने कहा कि घरेलू स्तर पर प्रतिभाओं का भी अभाव है.

उन्होंने कहा, ‘इस सीरीज से मेरी आंख खुल गई. ये ही खिलाड़ी काफी समय से खेल रहे हैं और इसी टीम ने हमें नंबर एक बनाया. ये लोग तीन-चार साल से साथ खेल रहे हैं.’

उन्होंने कहा, ‘यदि हम ऐसी टीम से हार सकते हैं जिसमें उसके मुख्य खिलाड़ी ही नहीं हैं तो हम खुद को नंबर एक कहने के हकदार नहीं हैं.’

स्टेन ने की स्मिथ की तारीफ, कहा- गेंदबाजों पर पहले गेंद से ही बना देते हैं दबाव

मिस्बाह ने कहा, ‘मैं इस हार की जिम्मेदारी लेता हूं. यह काफी निराशाजनक है और हम बहुत खराब खेले. लेकिन इसी टीम ने हमें बुलंदियों तक पहुंचाया था. यदि आप मुझे दोषी मानते हैं तो मैं दस दिन पहले ही आया हूं.’

श्रीलंका ने तीन मैचों की टी-20 सीरीज में पाकिस्तान का 3-0 से सफाया कर दिया है. इस दौरे पर श्रीलंका की टीम अपने मुख्य खिलाड़ियों के बगैर खेल रही है. उसके 10 सीनियर खिलाड़ियों ने पाकिस्तान जाने से इंकार कर दिया था जिसमें अनुभवी लसिथ मलिंगा और एंजेलो मैथ्यूज शामिल हैं.