क्रिकेट की दुनिया में एक तरफ जहां हर रोज नए खिलाड़ियों का पदार्पण होता है वहीं दूसरी तरफ कई खिलाड़ी अनेक कारणों की वजह से मैदान छोड़ने का निर्णय लेते हैं. भारतीय महिला क्रिकेट की धोनी कही जाने वाली पूर्व कप्तान मिताली राज ने टी-20 अंतराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया है. अगले साल टी-20 महिला वर्ल्ड कप होना है और मिताली ने इससे पहले ये एलान कर भारतीय महिला क्रिकेट टीम के चयनकर्ताओं को परेशानी में डाल दिया है.

मिताली, अब तक के करियर में 32 टी20 इंटरनेशनल मैचों में टीम इंडिया की कप्तान रहीं. तीन बार आईसीसी महिला वर्ल्ड टी-20 में भी टीम का कमान संभाला. मिताली भारतीय महिला क्रिकेट की वो स्तंभ हैं जिसने पूरी टीम को एक साथ खड़ा रखा. जब भारत पहली बार महिला टीम के साथ टी-20 अंतराष्ट्रीय मैच खेलने उतरा था उस समय भी टीम की अगुआई मिताली ही कर रही थीं. अपने टी-20 करियर में मिताली ने 88 टी20 इंटरनेशनल मैच खेले हैं, जिसमें उन्होंने 2364 रन बनाए हैं. मिताली अपने नाम कई रिकार्ड्स कर चुकी हैं. उनमें से कुछ याद करें तो मिताली भारत की तरफ से सबसे ज्यादा रन बनाने वाली महिला क्रिकेटर हैं, यही नहीं, मिताली, टी-20 इंटरनेशनल में सबसे पहले 2000 रन बनाने वाली महिला क्रिकेटर भी हैं.