नई दिल्ली. ऑस्ट्रेलिया ने कैनबरा टेस्ट में श्रीलंका की कहानी का अंत कर दिया है. इसी के साथ 2 टेस्ट की सीरीज में उसने क्लीन स्वीप भी कर लिया है. कैनबरा में खेले दूसरे टेस्ट में मेजबान कंगारुओं ने श्रीलंका को 366 रन से हराया, जो कि रनों के लिहाज से उसकी सबसे बड़ी हार है. इससे पहले ब्रिसबेन में खेले सीरीज के पहले और डे-नाइट टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया ने श्रीलंका को पारी और 40 रन के अंतर से रौंदा था.

स्टार्क का ‘दस का दम’

कैनबरा में ऑस्ट्रेलिया की जीत के सबसे बड़े किरदार उसके तेज गेंदबाज मिचेल स्टार्क रहे, जिन्होंने मैच में 100 रन देकर 10 विकेट चटकाए. स्टार्क ने पहली पारी में 54 रन देकर 5 विकेट लिए तो वहीं दूसरी पारी में भी 46 रन देकर 5 विकेट अपने नाम किए. ये ऑस्ट्रेलिय़ा में किसी एक टेस्ट मैच में स्टार्क का सबसे बेस्ट प्रदर्शन है.

डरबन के बाद कैनबरा में दिलाई जीत

कमाल की बात है कि मिचेल स्टार्क के 6 बेस्ट बॉलिंग फीगर में से 4 उन मुकाबलों का हिस्सा रहे , जिसमें ऑस्ट्रेलिया हारा. इसमें गॉल में 94 रन देकर 11 विकेट लेने का उनका करियर बेस्ट फीगर भी शामिल है. कैनबरा से पहले स्टार्क का आखिरी बेस्ट परफॉर्मेन्स जो ऑस्ट्रेलिया की जीत का गवाह बना था साउथ अफ्रीका के खिलाफ डरबन में 109 रन पर 9 विकेट का था.

12 महीने बाद जीता ऑस्ट्रेलिया

बहरहाल, कैनबरा में स्टार्क के 10 विकेट वाले परफॉर्मेन्स की बदौलत ऑस्ट्रेलिया ने वार्ने-मुरलीधरण ट्रॉफी पर कब्जा बरकरार रखा है. ऐसा करते हुए उसने 12 महीने बाद किसी सीरीज पर कब्जा जमाया है. इससे पहले आखिरी बार उसने पिछले साल फरवरी में T20 ट्राई-सीरीज पर कब्जा जमाया था.