नई दिल्ली : न्यूजीलैंड के खिलाफ शुक्रवार को खेले गए तीसरे वनडे मैच में 200 वनडे खेलने का मुकाम हासिल करने वाली भारत की महिला खिलाड़ी मिताली राज ने इस मुकाम तक पहुंचने पर खुशी जाहिर की है और कहा है कि उनका यह लंबा सफर काफी उतार चढ़ाव भरा रहा जिससे उन्होंने काफी कुछ सीखा. भारत को हालांकि सेडन पार्क मैदान पर खेले गए इस मैच में हार का सामना करना पड़ा. इस हार से सीरीज के नतीजे पर कोई असर नहीं पड़ा क्योंकि भारतीय टीम पहले ही तीन मैचों की सीरीज में लगातार दो मैच जीतकर सीरीज अपने नाम कर चुकी है.

यह मैच मिताली के करियर का 200वां वनडे मैच था. वह इस मुकाम को हासिल करने वाली दुनिया की पहली महिला खिलाड़ी हैं. मैच के बाद मिताली ने कहा, “इस मुकाम पर पहुंच कर अच्छा लग रहा है, हालांकि यह सिर्फ नंबर है. फिर भी इतनी दूर तक आना मेरे लिए बड़ी बात है. इस दौरान मैंने महिला क्रिकेट के सफर को देखा है, न सिर्फ भारत में बल्कि वैश्विक स्तर पर भी. मैंने काफी कुछ बदलते देखा है. मैंने 1999 में पदार्पण किया था और तब आईडब्ल्यूसीसी होता था और अब हम आईसीसी के अंतर्गत हैं. मैं अपने देश का प्रतिनिधित्व कर काफी खुश हूं.”

न्यूजीलैंड को बड़ा झटका, भारत के खिलाफ 5वें वनडे से पहले दिग्गज खिलाड़ी हुआ चोटिल

मिताली ने कहा कि उन्होंने कभी नहीं सोचा था कि वह यहां तक का सफर तय करेंगी. भारतीय वनडे टीम की कप्तान ने कहा, “जब मैंने शुरू किया था, तब नहीं सोचा था कि मैं इतनी दूर तक आ सकती हूं. मेरा पहला लक्ष्य अपने देश का प्रतिनिधित्व करना था. इसके बाद मेरा लक्ष्य टीम की अहम सदस्य बनना था, लेकिन मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं इतने वर्षो तक खेलूंगी. जब आपका करियर इतना लंबा होता है तो इस दौरान काफी कुछ सामने आता है. लेकिन, इस दौरान मेरा ध्यान सिर्फ अपने खेल को बेहतर करने पर रहा ताकि मैं अपने आप को हर स्थिति में खेलने के लिए तैयार कर सकूं.”

प्रवीण कुमार ने बताई भारतीय गेंदबाजों के सफल होने की वजह

उन्होंने कहा, “मेरी कोशिश अंतर्राष्ट्रीय स्तर के लायक अपने खेल को बनाए रखने की रही है. मैंने अपने करियर में काफी उतार चढ़ाव देखे हैं. जब आपका करियर इतना लंबा होता है तो आप यह सभी चीजें देखते हैं. मैं प्रशिक्षकों, मेरे माता-पिता, बीसीसीआई, डब्ल्यूसीआई का शुक्रिया अदा करती हूं.” मिताली ने 200 वनडे में 51.33 की औसत से 6622 रन बनाए. वह वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाली महिला खिलाड़ी भी हैं.