नई दिल्ली : इंग्लैंड क्रिकेट टीम के हरफनमौला खिलाड़ी मोइन अली का कहना है कि वर्ष 2015 में हुए एशेज सीरीज के दौरान ऑस्ट्रेलिया के एक खिलाड़ी ने उन्हें ‘ओसामा’ कहकर बुलाया. अली ने दावा किया कि कार्डिफ में हुए सीरीज के पहले टेस्ट मैच में उनके खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी की जिससे वह बहुत परेशान हुए. अली ने उस मैच में शानदार प्रदर्शन करते हुए पहली पारी में 77 रन बनाए और पांच विकेट लेकर मेजबान टीम को 169 रनों से जीत दिलाई. Also Read - IPL 2021 स्थगित होने के बाद इस लीग का हिस्सा बनेंगे इंग्लिश ऑलराउंडर मोइन अली

Also Read - अगर हालात तेज गेंदबाजों के अनुकूल रहे तो WTC फाइनल में संघर्ष कर सकती है टीम इंडिया: पनेसर

अली ने बताया, “व्यक्तिगत प्रदर्शन के आधार पर मेरे लिए वह एशेज सीरीज शानदार रही. एक घटना हालांकि, ऐसी हुई जिसने मेरा ध्यान भटकाया. मैच के दौरान मैदान पर एक ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी मेरी तरफ मुड़ा और बोला ‘टेक दैट ओसामा’. मैंने जो सुना उस पर मुझे यकीन नहीं हुआ, मैं गुस्से से लाल हो गया. इससे पहले मुझे मैदान पर इतना गुस्सा कभी नहीं आया.” Also Read - पूर्व दिग्गज एडम गिलक्रिस्ट ने कहा- सैंडपेपर गेट की और गंभीरता से जांच करे क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया

धोनी ने टीम इंडिया के नए कप्तान के लिए छोड़ी थी कप्तानी, वर्ल्ड कप 2019 था बड़ी वजह

अली ने कहा, “मैंने अपनी टीम के कई साथियों को बताया और मैं समझता हूं कि कोच ट्रेवर बेलिस ने ऑस्ट्रेलियाई समकक्ष डरेन लेहमन के सामने यह मुद्दा उठाया होगा. लेहमन ने ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी से जब इस बारे में पूछा तो उसने यह कहते हुए मना कर दिया कि उसने मुझे ‘टेक दैट पार्ट-टाइमर’ कहकर बुलाया. मुझे यह सुनकर अचंभा हुआ लेकिन आपको खिलाड़ी की बात माननी होती है लेकिन मैं पूरे मैच के दौरान गुस्से में था.” इंग्लैंड ने 2015 एशेज सीरीज को 3-2 से जीता था.