हाल ही में इंटरनेशनल क्रिकेट से अपनी रिटायरमेंट का ऐलान करने वाले मोहम्मद आमिर (Mohammad Amir) के इस फैसले से पाकिस्तान के पूर्व कप्तान इंजमाम उल हक (Inzamam Ul Haq) दुखी हैं. उन्होंने कहा कि इस युवा तेज गेंदबाज को इतनी जल्दी यह फैसला नहीं लेना चाहिए था. उन्होंने कहा कि आमिर का जाना दुखद है और पाकिस्तान क्रिकेट में इस तरह की घटनाएं नहीं होनी चाहिए.Also Read - "MS Dhoni की वजह से आगे बढ़ा कोहली का करियर लेकिन पाक टीम में युवा खिलाड़ियों की कामयाबी को पचा नहीं पाते सीनियर"

आमिर पाकिस्तान के मौजूदा टीम मैनेजमेंट से नाराज थे. इंजमाम ने इस फैसले पर प्रतिक्रिया जताते हुए कहा, ‘यह बेहद दुखद घटना है कि आमिर ने सिर्फ एक व्यक्ति की वजह से संन्यास का फैसला किया. इसका पाकिस्तान क्रिकेट पर नकारात्मक असर पड़ेगा.’ Also Read - पाक क्रिकेटर मोहम्‍मद आमिर पर भी छाया 'पुष्‍पा' का बुखार, दाढ़ी के नीचे हाथ फेरते आए नजर

क्रिकेट पाकिस्तान ने इंजमाम उल हक के हवाले से लिखा, ‘आमिर अच्छे खिलाड़ी थे. उनकी गैर-मौजूदगी में पाकिस्तानी टीम का प्रदर्शन प्रभावित होगा. हमारे पास हालांकि दूसरे गेंदबाज भी हैं और वे अच्छा कर रहे हैं. लेकिन आमिर का जाना दुखद: घटना है और पाकिस्तान क्रिकेट में इस तरह की घटनाएं नहीं होनी चाहिए. एक खिलाड़ी को क्रिकेट इस तरह नहीं छोड़नी चाहिए. यह अच्छा नहीं लगता.’ Also Read - पूरी दुनिया के सामने Pakistan शर्मसार, कोच पर छेड़छाड़ का आरोप, PCB ने किया निलंबित

आमिर ने पाकिस्तान के लिए 36 टेस्ट, 61 वनडे और 50 टी20 मैचों में कुल 259 विकेट लिए हैं. इंग्लैंड में फिक्सिंग के कारण इस तेज गेंदबाज पर 5 साल का बैन भी लगा था, जिसे पूरा करने के बाद उन्होंने 2015 में वापसी की थी.

हक ने कहा कि अगर आमिर को वकार यूनिस से समस्या थी तो उन्हें यह बात मिस्बाह उल हक (Misbah Ul Haq) को बतानी चाहिए थी और अगर उससे भी समाधान नहीं होता तो फिर पीसीबी का रुख करना चाहिए था. आमिर उस पाकिस्तान टीम का हिस्सा थे, जिसने 2009 में T20 वर्ल्ड कप जीता था और 2017 में भारत को हराकर चैम्पियंस ट्रॉफी जीती थी.

इनपुट : IANS